मुजफ्फरनगर में बुलंदशहर के 503 अभ्यर्थी मिले अधिक उम्र, भर्ती स्थल से निकाला

Agniveer Recruitment मुजफ्फरनगर में सेना भर्ती के लिए सोमवार को जनपद बुलंदशहर की तहसील सदर और अनूपशहर के युवाओं ने प्रतिभाग किया। करीब 8000 युवा चौधरी चरण सिंह स्पोर्ट्स स्टेडियम में दौड़ में शामिल हुए।

In Muzaffarnagar, 503 candidates of Bulandshahr got older, removed from the recruitment site
In Muzaffarnagar, 503 candidates of Bulandshahr got older, removed from the recruitment site
इस खबर को शेयर करें

मुजफ्फरनगर। Agniveer Recruitment मुजफ्फरनगर में सेना भर्ती के लिए सोमवार को जनपद बुलंदशहर की तहसील सदर और अनूपशहर के युवाओं ने प्रतिभाग किया। करीब 8000 युवा चौधरी चरण सिंह स्पोर्ट्स स्टेडियम में दौड़ में शामिल हुए। दौड़ से पहले अभ्यार्थियों के शैक्षणिक समेत अन्य दस्तावेज चेक गए, जिनमें 503 अभ्यार्थी ओवरेज मिले हैं। जिन्हें भर्ती स्थल से बाहर कर दिया गया।

वहीं दूसरी ओर 300 से अधिक अभ्यर्थी ओवरहाइट में बाहर हुए हैं। दौड़ सुबह 6 बजे से शुरू हुई। दौड़ पास करने वाले अभ्यर्थियों का नुमाइश मैदान में शारीरिक दक्षता परीक्षण होगा। इसके पहले सेना भर्ती में रविवार को सहारनपुर और बुलंदशहर के युवाओं ने हिस्सा लिया। दोनों जिलों की तीन तहसील से आठ हजार से अधिक युवाओं ने दौड़ लगाई। दौड से पहले सेना की ओर से अभ्यार्थियों के दस्तावेजों की जांच पड़ताल की गई, जिसमें 124 युवाओं की जन्म तिथि संबंधित दस्तावेज और आधार कार्ड गलत पाए गए, जिन्हें भर्ती स्तर से बाहर निकाल दिया गया था।

कल भी 500 युवक हुए थे बाहर

चौधरी चरण सिंह स्पोर्ट्स स्टेडियम में आयोजित अग्निवीर सेना भर्ती में सहारनपुर की तहसील बेहट और नकुड और बुलंदशहर की तहसील डिबाई से आठ हजार से अधिक युवाओं की भर्ती हुई। शनिवार रात्रि में युवक लाइन में लग गए। देर रात्रि में सभी युवाओं को नुमाईश मैदान के अंदर ले लिया गया। अंडर हाइट में करीब 500 युवक बाहर हो गए। इसके बाद युवाओं के दस्तावेजों की जांच-पड़ताल की गई। जांच में 124 युवाओं की जन्म तिथि संबंधित दस्तावेज और आधार कार्ड गलत पाए गए हैं।

1600 मीटर की दौड में प्रतिभाग

सेना ने इन सभी युवाओं को मैदान से बाहर कर दिया। इसके बाद शेष युवाओं को दौड़ के लिए स्पोर्ट्स स्टेडियम में भेजा गया। सुबह करीब छह बजे दौड़ शुरू हुई और 11 बजे तक पूर्ण कर ली गई। आठ हजार से अधिक युवाओं ने 1600 मीटर की दौड में प्रतिभाग किया। दौड में पास हुए युवाओं को शारीरिक दक्षता परीक्षण के लिए नुमाईश मैदान में भेजा गया।