हरियाणा के इस जिले में गांव-गांव तक पहुंचा नशा, नारकोटिक्स ब्‍यूरो की टीम ने की रेड

नशे की जड़ें लगातार गहरी होती जा रही हैं, जबकि पुलिस के आंकड़े बता रहे हैं कि यह तस्करी बड़े पैमाने पर हो रही है। सिर्फ नारकोटिक्स ही नहीं बल्कि शराब और नशे के लिए इस्तेमाल होने वाली दवाइयां भी नशा तस्करों की कमाई का बड़ा साधन बन चुकी है।

In this district of Haryana, intoxication reached village to village, Narcotics Bureau team raided
In this district of Haryana, intoxication reached village to village, Narcotics Bureau team raided
इस खबर को शेयर करें

अंबाला: नशे की जड़ें लगातार गहरी होती जा रही हैं, जबकि पुलिस के आंकड़े बता रहे हैं कि यह तस्करी बड़े पैमाने पर हो रही है। सिर्फ नारकोटिक्स ही नहीं बल्कि शराब और नशे के लिए इस्तेमाल होने वाली दवाइयां भी नशा तस्करों की कमाई का बड़ा साधन बन चुकी है। पुलिस भी लगातार कार्रवाई तो कर रही है लेकिन अभी भी नशा तस्करी की जड़ें काफी गहरी हैं। शहरी इलाकों से यह तस्करी अब गांवों तक पहुंच चुकी है। आंकड़ों पर नजर मारें, तो इस साल नशा तस्करी (शराब और नारकाेटिक्स) के 478 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं। यह नशा दिल्ली, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, पंजाब आदि राज्यों से पहुंच रहा है।

– जनवरी में 199 मामलों में 215 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया, जिसमें अवैध शराब की तस्करी के 188 मामलों में 203 आरोपितों को गिरफ्तार किया। इन तस्करों से 1250 बोतल देसी, 1818 बोतल 07 पव्वे अंग्रेजी शराब व 12 बोतल बीयर बरामद हुए। इसी तरह 12 किलोग्राम चूरापोस्त, 510 ग्राम अफीम, 852 ग्राम 45 मिलीग्राम हेराेइन, 104 नशीले कैप्सूल व 144 नशीली गोलियां बरामद की गई।

फरवरी में 85 मामलों में 100 आरोपितों को गिरफ्तार किया गया। अवैध शराब की तस्करी के 74 मामलों में 84 आरोपियों को गिरफ्तार कर उनसे 343 बोतल देसी व 12058 बोतल अंग्रेजी शराब बरामद किए गए। मादक पदार्थों की तस्करी करने वालों से 11 मामलों में 16 आरोपितों को गिरफ्तार कर उनसे 580 ग्राम अफीम, 01 क्विंटल 20 किलोग्राम चूरापोस्त, 02 किलो 46 ग्राम गांजा, 322 ग्राम 172 मिलीग्राम हेराेइन, 350 नशीले इंजेक्शन व 2880 नशीले कैप्सूल बरामद किए गए।

– मार्च में 50 मामलों में 59 आरोपितों को गिरफ्तार किया गया। अवैध शराब की तस्करी के 43 मामलों में 49 आरोपितों को गिरफ्तार कर उनसे 457 बोतल अवैध शराब बरामद की। मादक पदार्थों की तस्करी के 7 मामलों में 10 आरोपितों को गिरफ्तार कर उनसे 4 किलो 151 ग्राम अफीम, 233 ग्राम चरस, 108 ग्राम 05 मिलीग्राम हेराेइन बरामद की गई।

अप्रैल में 33 मामलों में 34 आरोपितों को गिरफ्तार किया गया। अवैध शराब की तस्करी करने वालों के खिलाफ 29 मामले दर्ज कर 29 आरोपितों को गिरफ्तार किया। उनसे 1063 बोतल अवैध देसी शराब, 20 बोतल अंग्रेजी शराब व 20 बोतल बीयर बरामद की गई। मादक पदार्थों की तस्करी के 4 मामलों में 5 आरोपितों से 920 ग्राम अफीम, 10 किलो 400 ग्राम चूरापोस्त, 5120 नशीले कैप्सूल, 12500 नशीली गोलियां व 6 ग्राम 10 मिलीग्राम हेरोइन बरामद की गई।

नशा तस्करी पर रोक लगाने के लिए पुलिस छापामारी व जागरूकता अभियान चला रही है। इसके लिए विभाग ने 7419112112 मोबाइल नंबर जारी किया है, जहां पर लोग नशा तस्करी को लेकर जानकारी दे सकते हैं।

नशा तस्करों ने गांवों का भी रुख कर लिया है। गांवों में भी लोग नशे के आदी हो रहे हैं, जबकि तस्कर जमकर चांदी कूट रहे हैं। सूत्रों की मानें, तो कई ढाबों पर नशा मिल रहा है, तो कहीं ट्रक चालक नशा लाकर सप्लाई कर रहे हैं। इसके अलावा गांवों में युवा भी नशा तस्करी के खेल में लगे हैं। दूसरी ओर शराब तस्करी भी बड़े पैमाने पर हो रही है, जबकि अंबाला में अवैध शराब की फैक्ट्रियां तक पकड़ी गई हैं। बीते दिनों साहा पुलिस ने अवैध खुर्दे चलाने के आरोप में करीब एक दर्जन लोगों पर सात अलग-अलग मामले दर्ज किए थे।