छत्तीसगढ़ में 80 फीट बोरवेल में गिरा मासूम, CCTV से रखी जा रही नजर, रेस्क्यू के लिए ओडिशा से आई टीम

जांजगीर-चांपा जिले के मालखरौदा क्षेत्र के पिहारिद गांव में 10 साल का राहुल बोरवेल में गिर गया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बालक को सुरक्षित निकालने अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए हैं। कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक मौके पर मौजूद हैं।

इस खबर को शेयर करें

रायपुर : छत्तीसगढ़ में बड़ा हादसा हो गया है। जांजगीर के पिहरीद गांव में 10 साल का बच्चा बोरवेल में गिर गया है। शुक्रवार से रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है। राहत और बचाव कार्य के 18 घंटे से ज्यादा हो गए। अनुमान है कि अभी कम से कम 7-8 घंटे और लगेंगे। बोरवेल में सीसीटीवी की मदद से बच्चे को बाहर मॉनिटर पर देखा जा रहा है। राहुल नाम का ये बच्चा फिलहाल ठीक है। बोरवेल में ऑक्सीजन और पानी की भी सुविधा मुहैया कराई गई है। ओडिशा से स्पेशल रेस्क्यू टीम को बुलाया गया है। बताया जा रहा है कि राहुल नाम का ये बच्चा शुक्रवार दोपहर 2 बजे के करीब 80 फीट गहरे बोरवेल में गिरा था।

शुक्रवार से ही 10 साल के राहुल को बचाने के लिए रेस्क्यू अभियान जारी है। बोरवेल के ठीक बगल में 50 फीट से ज्यादा की खुदाई हो गई है। पाइप के माध्यम से राहुल को ऑक्सीजन दी जा रही है। बोरवेल से राहुल की आवाज और उसकी हलचल पूरी तरह सुनाई और दिखाई दे रही है। शुक्रवार दोपहर 2 बजे के आस-पास वो बोरवेल में गिरा था। जिसके बाद से वो वहीं फंसा हुआ है। डॉक्टरों की एक टीम मौके पर मुस्तैद है। बोरवेल के भीतर बच्चे को ऑक्सीजन मुहैया कराने की व्यवस्था की गई है। इसके अलावे बच्चे पर नजर रखने के लिए सीसीटीवी कैमरा भी लगाया गया है। बाहर मॉनिटर पर बच्चा हरकत करते दिख रहा है।

जल्द रेस्क्यू की उम्मीद
जांजगीर-चांपा जिले के पुलिस अधीक्षक विजय अग्रवाल ने बताया कि पुलिस को जानकारी मिली है कि जिले के मालखरौदा विकासखंड के पिहरीद गांव में शुक्रवार दोपहर राहुल साहू घर के पिछले हिस्से में खेलते समय एक खुले सूखे पड़े बोरवेल में गिर गया। उन्होंने बताया कि जब परिवार के सदस्यों ने बोरवेल से बच्चे के रोने की आवाज सुनी तब उन्होंने इसकी सूचना ग्रामीणों को दी। जिलाधिकारी जितेंद्र शुक्ला ने कहा कि जैसे ही जानकारी मिली वैसे ही हमारी टीम मौके पर पहुंच गई। रेस्क्यू शुरू किया गया। इसकी जानकारी एनडीआरएफ और एसडीआरएफ को भी दी गई। ओडिशा से भी एक टीम पहुंची है। जल्द ही बच्चे का रेस्क्यू कर लिया जाएगा।

पिता के बोरवेल में बेटा गिरा
प्रशासनिक अमला मौके पर पूरी तरह तैनात है। पिहरीद गांव निवासी लालाराम साहू का 10 वर्षीय पुत्र राहुल साहू शुक्रवार दोपहर घर से बाहर खेल रहा था। खेलते-खेलते वो खोदे गए बोरवेल के पास पहुंच गया और उसमें गिर गया। वहीं, जब घटना की सूचना जिला प्रशासन और पुलिस को मिली तब पुलिस और जिले के वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंचे और बचाव कार्य शुरू किया। बच्चे को सुरक्षित बाहर निकालने के लिए बोरवेल के करीब समानांतर गड्ढा खोदने के लिए जेसीबी का इस्तेमाल किया जा रहा है। बच्चे के पिता लाला राम साहू ने बताया कि कुछ दिनों पहले घर के पिछले हिस्से में सब्जी की खेती के लिए लगभग 80 फीट गहरा बोरवेल की खुदाई की गई थी। जब बोरवेल में पानी नहीं निकला तब उसे बिना इस्तेमाल किए छोड़ दिया गया।

पल-पल की अपडेट पर सीएम की नजर
इस बीच मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अधिकारियों से बच्चे को बचाने के लिए आवश्यक कदम उठाने और बचाव अभियान तेज करने के लिए कहा है। पल-पल के अपडेट पर नजर बनाए हुए हैं। शनिवार को उन्होंने राहुल के माता-पिता से वीडियो पर बात भी की। उन्होंने कहा कि ग्राम पिहरीद में राहुल के माता-पिता से वीडियो कॉल के जरिए बात की। परिवार को ढांढस बांधते हुए निराश न होने और राहुल के बचाव के लिए हर सम्भव मदद की बात कही। राहुल की मां गीता साहू और पिता लाला साहू ने जिला प्रशासन के किए जा रहे रेस्क्यू अभियान पर संतुष्टि जताई है। सीएम बघेल ने कहा कि बोरवेल में फंसे राहुल को बचाने के लिए पूरे प्रशासनिक अमले को काम पर लगा दिया है। सीएम लगातार रेस्क्यू टीम से सीधा सम्पर्क में हैं और पूरे रेस्क्यू ऑपरेशन की मॉनिटरिंग भी कर रहे हैं। जांजगीर चांपा जिले के मालखरौदा के पिहरीद गांव में बोरवेल के गड्ढे में फंसे राहुल साहू को बाहर निकालने के लिए रेस्क्यू आपरेशन शुक्रवार से लगातार जारी है। उन्होंने इसमें सफलता की उम्मीद जताई है।