प्राइवेट पार्ट से आने वाली बदबू के लिए केमिकल प्रोडक्ट्स नहीं, आजमाएं ये घरेलू नुस्खे

Instead of chemical products, try these home remedies for bad smell coming from private parts.
Instead of chemical products, try these home remedies for bad smell coming from private parts.
इस खबर को शेयर करें

गर्मी के मौसम में प्राइवेट पार्ट की बदबू की समस्या महिलाओं और पुरुषों दोनों में ही बहुत कॉमन हो जाती है. यह आमतौर पर चिंता की बात नहीं होती, लेकिन लगातार तेज गंध या खुजली जैसी समस्या होने पर डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए. आज इस लेख में हम कुछ घरेलू उपायों के बारे में बात करेंगे जो हल्की योनि गंध को दूर करने में मददगार हो सकते हैं.

लौंग वाला पानी

लौंग को प्राइवेट पार्ट की स्मेल को दूर करने के लिए पुराने समय से इस्तेमाल किया जा रहा है. इससे काफी हद तक इंफेक्शन का खतरा भी कम रहता है. इन फायदों के लिए 2 लौंग को पानी में अच्छे से उबाल लें. पानी को गुनगुना होने तक ठंडा होने के लिए रख दें, फिर इससे प्राइवेट पार्ट को धो लें. इस उपाय को आप दिन में दो बार नियमित रूप से कर सकते हैं.

नारियल का तेल

नारियल का तेल एक नेचुरल एंटीफंगल और एंटीबैक्टीरियल तेल है. ये गुण योनि के आसपास फंगल या बैक्टीरियल संक्रमण को रोकने में मदद कर सकते हैं जो दुर्गंध का कारण बनते हैं. ऐसे में नारियल के तेल की कुछ बूंदें रुई पर लगाएं और योनि के बाहरी हिस्से पर लगाएं. ध्यान दें कि नारियल का तेल योनि के अंदर नहीं लगाना चाहिए. बेहतर रिजल्ट के लिए दिन में इसे दो बार दोहराएं.

बेकिंग सोडा

बेकिंग सोडा एक नेचुरल डिओडराइजर है जो योनि की हल्की गंध को कम करने में मदद कर सकता है. ऐसे में प्राइवेट पार्ट के स्मेल से छुटकारा पाने के लिए एक चौथाई चम्मच बेकिंग सोडा को एक गिलास गुनगुने पानी में मिलाएं. इस घोल से प्राइवेट पार्ट को धो लें. ध्यान दें कि यह इंटर्नल यूज के लिए नहीं होता है. सप्ताह में दो बार से अधिक इस्तेमाल न करें.

सेब का सिरका

सेब का सिरका नेचुरल रूप से एसिडिक होता है और योनि के pH संतुलन को बनाए रखने में मदद कर सकता है. असंतुलित pH योनि में फंगल संक्रमण का कारण बन सकता है जो दुर्गंध पैदा करता है. ऐसे में एक चम्मच सेब का सिरका को एक गिलास पानी में मिलाएं. इस घोल से योनि को धो लें. ध्यान दें कि योनि के अंदर धोना नहीं चाहिए. सप्ताह में दो बार से अधिक इस्तेमाल न करें.

सूती कपड़े का इस्तेमाल

नायलॉन या सिंथेटिक कपड़े पसीने को सोख नहीं पाते, जिससे नमी बढ़ती है और प्राइवेट पार्ट में गंध की समस्या होती है. ऐसे में सूती अंडरवियर पहनने से नमी कम करने और हवा के संचार को बेहतर बनाने में मदद मिलती है. इसके अलावा रोजाना अंडरवियर बदलें.

इन बातों का ध्यान रखें

ये उपाय गंभीर संक्रमण का इलाज नहीं करते हैं. तेज गंध, खुजली या जलन होने पर डॉक्टर से सलाह लें. किसी भी नए उत्पाद को लगाने से पहले पैच टेस्ट जरूर करें. योनि के अंदर किसी भी चीज का प्रयोग न करें. साफ-सफाई का ध्यान रखें और संतुलित आहार लें.