यूरिन में आता है झाग? इन बीमारियों का सिग्नल, तुरंत हो जाएं सावधान

Urine related problems: पेशाब में झाग का नजर आना यूं को काफी आम माना जाता है लेकिन कई बार यह किसी गंभीर बीमारी की ओर इशारा कर सकता है. तो आइए जानते हैं क्यों बनता है यूरिन में झाग और इसके क्या कारण हो सकते हैं.

Is there foam in the urine? Signs of these diseases, be careful immediately
Is there foam in the urine? Signs of these diseases, be careful immediately
इस खबर को शेयर करें

नई दिल्ली: यूरिन का कलर हल्का या गहरा पीला होता है. ऐसा आपकी डाइट या किसी बीमारी या फिर कुछ खास दवाइयों के सेवन से हो सकता है. बहुत से लोगों के यूरिन में कई बार झाग भी देखने को भी मिलता है. इसके कई कारण हो सकते हैं. जब यूरिन में झाग नजर आता है तो उसे क्लाउडी यूरिन या झागदार पेशाब कहा जाता है.

आमतौर पर यूरिन में झाग दिखाई देना ब्लैडर के फुल होने का संकेत होता है. इस स्थिति में यूरिन आपके ब्लैडर पर हमला करता है. लेकिन इसके पीछे और भी कई कारण हो सकते हैं. तो आइए जानते हैं क्या होता है यूरिन में झाग दिखने का मतलब और ऐसा होने पर आपको क्या करना चाहिए.

यूरिन में झाग दिखने के साथ ही नजर आते हैं ये लक्षण-
यूरिन की स्पीड ज्यादा होने के कारण भी झाग नजर आता है. लेकिन अगर आपके यूरिन में झाग काफी ज्यादा नजर आने लगे और समय के साथ ही और भी बढ़ जाए तो यह किसी बीमारी का संकेत हो सकता है. तो अगर आपको भी अपने यूरिन में झाग नजर आ रहा है तो इसके साथ कुछ और लक्षणों पर भी ध्यान देना काफी जरूरी है. ये लक्षण आपको किसी गंभीर बीमारी के बारे में बता सकते हैं. जिससे आप समय रहते इसे ठीक कर सकते हैं.

– हाथ, पैर, चेहरे और पेट में सूजन, यह किडनी डैमेज का संकेत हो सकता है.
– थकान
– भूख कम लगना
– मितली
– उल्टी
– सोने में दिक्कत
– यूरिन कम बनना
– क्लाउडी यूरिन
– डार्क कलर का यूरिन
– अगर आप पुरुष हैं तो, ऑर्गेज्म के दौरान सीमन का बहुत कम या बिल्कुल भी ना आना.
– अगर आप पुरुष हैं तो, इंफर्टिलिटी और बच्चे पैदा करने में दिक्कत होना.

झागदार यूरिन के कारण
जब आप बहुत देर तर यूरिन को रोककर रखते हैं और फिर अचानक ने इसे पास करते हैं तो ज्यादा स्पीड होने के कारण यूरिन में झाग बन जाता है. लेकिन यह झाग कुछ ही देर में क्लियर हो जाता है. कई बार झाग का बनना यूरिन में प्रोटीन की अधिक मात्रा की ओर इशारा करता है. यूरिन में मौजूद ये प्रोटीन हवा के संपर्क में आने से झाग बनाता है.

यूरिन में झाग बनने के और भी कई कारण हो सकते हैं जैसे-

डिहाइड्रेशन- जब कोई व्यक्ति डिहाइड्रेटेड होता है तो उसके यूरिन का कलर काफी डार्क और गाढ़ा नजर आता है. ऐसा पानी का सेवन काफी कम मात्रा में करने के कारण होता है. पानी का सेवन कम करने से प्रोटीन यूरिन में डाइल्यूट नहीं हो पाता. प्रोटीन में कई ऐसी प्रॉपर्टीज होती हैं जिससे यूरिन पास करते समय उसमें झाग बन जाता है. अगर हाइड्रेटेड रहने के बाद भी किसी व्यक्ति के यूरिन में झाग नजर आता है तो यह किडनी डिजीज का एक लक्षण हो सकता है.

किडनी डिजीज- किडनी का मुख्य काम ब्लड में मौजूद प्रोटीन को फिल्टर करना होता है. प्रोटीन हमारे शरीर में फ्लूइड को बैलेंस करने में अहम भूमिका निभाता है. किडनी डैमेज होने पर या किडनी से जुड़ी कोई बीमारी होने पर ये प्रोटीन किडनी से लीक होकर यूरिन में मिल जाता है. एल्बुमिन एक तरह का प्रोटीन होता है जो हमारे खून में मौजूद होता है. जब आपकी किडनी पूरी तरह से सही से काम करती है तो यह इस प्रोटीन की बड़ी मात्रा को आपके यूरिन में नहीं जाने देती. लेकिन खराब किडनी ऐसा कर सकती है.

अगर किसी व्यक्ति के यूरिन में लगातार झाग नजर आ रहा है तो यह प्रोटीन्यूरिया की और इशारा करता है जो कि किडनी डिजीज का एक शुरुआती लक्षण है.

डायबिटीज- शरीर में ब्लड शुगर लेवल के बढ़ने के कारण भी किडनी में एल्बुमिन हाई लेवल में पास होता है. जिस कारण यूरिन झागदार नजर आता है. टाइप 2 डायबिटीज के मरीजों में ये लक्षण भी आते हैं नजर

– धुंधला दिखाई देना
– मुंह सूखना
– लगातार प्यास लगना
– बार-बार पेशाब आना
– भूख लगना
– स्किन में खुजली लगना

यूरिन में झाग नजर आने पर क्या करें
इसके लिए आपको अपने डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए. डॉक्टर आपका यूरिन टेस्ट करेंगे. जिसमें आपके यूरिन में मौजूद प्रोटीन की मात्रा को देखा जाता है. इसके अलावा डॉक्टर यूरिन में मौजूद प्रोटीन की क्रिएटिनिन से भी तुलना करते हैं. यूरिन में प्रोटीन का क्रिएटिनिन से ज्यादा होना किडनी डिजीज की ओर इशारा करता है.