मुजफ्फरनगर में जाट Vs जाट हुआ मुकाबला, BJP ने तीसरी बार संजीव बालियान पर लगाया दांव

Jat vs Jat contest in Muzaffarnagar, BJP bets on Sanjeev Baliyan for the third time
Jat vs Jat contest in Muzaffarnagar, BJP bets on Sanjeev Baliyan for the third time
इस खबर को शेयर करें

मुजफ्फरनगर: उत्तर प्रदेश की मुजफ्फरनगर लोकसभा सीट से भाजपा ने लगातार तीसरी बार मौजूदा सांसद और केंद्रीय राज्य मंत्री डॉक्टर संजीव बालियान (Sanjiv Balyan) पर विश्वास जताते हुए उन्हें पार्टी प्रत्याशी घोषित किया है। डॉ संजीव बालियान ने 2019 में रालोद अध्यक्ष चौधरी अजीत सिंह को, जबकि 2014 में बसपा के सिटिंग एमपी कादिर राणा को 5 लाख से अधिक मतों से हराया था। इस बार सपा ने मुजफ्फरनगर सीट से पूर्व सांसद हरेंद्र मलिक को पार्टी प्रत्याशी बनाया है। भाजपा की ओर से पार्टी प्रत्याशी की घोषणा के बाद तय हो गया है कि मुजफ्फरनगर लोकसभा क्षेत्र से दो जाट क्षत्रप आमने-सामने होंगे।

पश्चिमी यूपी के जिलों में शामिल मुजफ्फरनगर को राजनीतिक दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण माना जाता है। गंगा-यमुना के दोआब में बसे इस जनपद की मुजफ्फरनगर लोकसभा सीट का चुनाव विभिन्न राजनीतिक दलों के सियासी लहर तैयार करने के लिए महत्वपूर्ण माना जाता है। भाजपा ने देर शाम जारी पार्टी प्रत्याशियों की सूची जारी कर मुजफ्फरनगर लोकसभा क्षेत्र से मौजूदा केन्द्रीय राज्यमंत्री को ही प्रत्याशी बनाने की घोषणा की है।

संजीव बालियान पेशे से पशु चिकित्सक हैं और भाजपा ने उन्हें 2014 में पहली बार मुजफ्फरनगर लोकसभा सीट से टिकट दिया था। जनपद में 2013 सांप्रदायिक दंगे के बाद हुए लोकसभा चुनाव में संजीव बालियान के पक्ष में जबरदस्त ध्रुवीकरण हुआ था। संजीव बालियान ने तब बसपा के मौजूदा सांसद कादिर राणा को 401,150 मदों से हराया था। जबकि 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा प्रत्याशी के तौर से संजीव बालियान ने अपनी जीत को दूसरी बार बरकरार रख रालोद के तत्कालीन अध्यक्ष और बड़े जाट नेता चौधरी अजित सिंह को 6526 मतो से हराया था।

इस बार भाजपा ने डा.संजीव बालियान पर तीसरी बार दांव खेला है। जबकि इस सीट से सपा ने पूर्व सांसद हरेन्द्र मलिक को मुजफ्फरनगर से पार्टी प्रत्याशी बनाया है। हरेन्द्र मलिक मुजफ्फरनगर लोक सभा सीट से पहले भी दो बार चुनाव लड़ चुके हैं। लेकिन वह दोनों ही बार चुनाव हारे।