अभी अभीः नाव से निकला एके-47 और हथियारों का जखीरा, सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट

Raigad Boat Ak-47 News: महााष्ट्र के रायगढ़ में एक नाव से तीन एके-47 मिली हैं। पुलिस ने इलाके में सर्च ऑपरेशन चलाया है। माना जा रहा है कि इसका इस्तेमाल किसी बड़ी आतंकी वारदात में हो सकता था। पुलिस ने इलाके में तलाशी अभियान चलाया है।

Just now: AK-47 and a cache of weapons came out of the boat, security agencies alert
Just now: AK-47 and a cache of weapons came out of the boat, security agencies alert
इस खबर को शेयर करें

रायगढ़: महाराष्ट्र के रायगढ़ में बड़ी साजिश (AK-47 in Raigarh Beach) का पता चला है। यहां दो संदिग्ध बोट से एके-47 रायफल और विस्फोटक बरामद हुए हैं। इन नावों पर जिलेटिन की छड़ें, तीन एके-47 राइफल और कारतूस भी रखे मिले हैं। पुलिस के मुताबिक जिले के हरिहरेश्वर समुद्र तट पर दो संदिग्ध बोट मिली है, जिस पर ये एके-47 रखी हुई थी। पुलिस ने इलाके में हाई अलर्ट घोषित किया है साथ ही सर्च ऑपरेशन भी चलाया है। आसपास के लोगों से पूछताछ कर पता लगाया जा रहा है कि हथियारों को लेकर आ रही नाव पर क्या किसी संदिग्ध को देखा गया है। इस बीच शुरुआती जांच में किसी आतंकी ऐंगल की बात सामने नहीं आई है। बताते चलें कि 26 नवंबर 2008 को हुए मुंबई आतंकी हमले में नाव के जरिए ही पाकिस्तान से आए आतंकी मुंबई में घुसे थे।

जखीरा मिलने के बाद अलर्ट, जांच शुरू
इस बीच रायगढ़ में हथियारों का जखीरा मिलने के बाद एकनाथ शिंदे सरकार का बयान आया है। मंत्री दीपक केसरकर ने कहा है कि ये गंभीर मसला है और मामले की जांच शुरू हो गई है। महाराष्ट्र और मुंबई में समुद्र के रास्ते आतंकी साजिश का पहले भी अलर्ट आता रहा है। ऐसे में इस घटना को सामान्य नहीं माना जा सकता। पुलिस और सुरक्षा एजेंसियां छानबीन में जुटी हैं कि यह किसी बड़े आतंकी हमले की तैयारी तो नहीं थी।

नाव से तीन एके-47 बरामद हुई हैं

मौके से कुल दो बोट मिली हैं। पहला श्रीवर्धन तहसील के हरिहरेश्वर बीच पर और दूसरा भरण खोल के किनारे पर। इनमें से हरिहरेश्वर बीच पर मिली बोट में तीन AK-47 राइफल मिली हैं। दूसरी बोट में लाइफ जैकेट और कुछ डॉक्यूमेंट हैं। इस बरामदगी के बाद जिलेमें अलर्ट जारी किया गया। बोट में कोई व्यक्ति मौजूद नहीं था। 1993 मुंबई ब्लास्ट और 26 /11 आतंकी हमले को ध्यान में रखते हुए प्रशासन पूरी तरह से सतर्क है और जांच की जा रही है।
बरामदगी पर रायगढ़ प्रशासन का बयान

समुद्री सुरक्षा से जुड़ी कंपनी की नाव और हथियार!
इस बीच जब्त हुई नाव पर जिस कंपनी का स्टिकर लगा है, उसका कहना है कि कुछ दिन पहले अंतरराष्ट्रीय समुद्री क्षेत्र में उसने अपने नाव के डूबने की जानकारी दी थी। कंपनी समुद्री सुरक्षा के काम से जुड़ी हुई है और बताया जा रहा है कि जब्त हुई नाव में मिले हथियार उसी के हैं। महाराष्ट्र पुलिस, एटीएस और क्राइम ब्रांच इस तथ्य की तस्दीक कर रहे हैं। शुरुआती जांच में अब तक किसी आतंकी ऐंगल की बात सामने नहीं आ रही है।

720 किमी लंबी समुद्री सीमा, त्योहारों में बड़ी साजिश तो नहीं?

बताते चलें कि महाराष्ट्र में कल दही हांडी का त्योहार है। ऐसे में सुरक्षा एजेेसियां चौकन्नी हैं। इसके अलावा कुछ दिनों में ही गणेशोत्सव भी शुरू हो रहा है। इस दौरान लोग मुंबई से कोंकण भारी तादाद में जाते हैं। महाराष्ट्र के 720 किमी लंबे समुद्री किनारे पर भी हाई अलर्ट घोषित है। सुरक्षा एजेंसियां यह भी पता लगाने की कोशिश कर रही हैं कि कहीं त्योहार में किसी आतंकी वारदात को अंजाम देने की साजिश तो नहीं रची जा रही थी।

पुलिस को कुछ दस्तावेज भी मिले
एनसीपी नेता और रायगढ़ की विधायक अदिति तटकरे ने मीडिया को बताया, ‘रायगढ़ जिले के श्रीवर्धन के हरिहरेश्वर और हररकोट गांव के पास समुद्री किनारे पर बरामद हुई है। पुलिस को कुछ डॉक्यूमेंट भी मिला है। फिलहाल मामले की जांच पुलिस कर रही है। इसकी जांच एटीएस और अन्य एजेंसियों से भी करवाई जानी चाहिए। लोगों की सुरक्षा का भी ध्यान रखना होगा। अगर केंद्रीय एजेंसियों की जरूरत पड़े तो उनकी मदद ली जाए। रायगढ़ में रेड अलर्ट घोषित किया गया है।’

कलेक्टर की अपील- अफवाहों पर ध्यान न दें
इस बीच रायगढ़ के कलेक्टर ने लोगों से अपील की है कि अफवाहों पर ध्यान न दें। कलेक्टर ने कहा, ‘अगर आपके आसपास कोई संदिग्ध गतिविधि या संदिग्ध शख्स दिखाई देता है तो तत्काल पुलिस और जिला प्रशासन को इसकी सूचना दें।’