अभी अभीः सहारनपुर से लेकर कानपुर तक बुलडोजर, दंगाईयों की जमकर हुई तस्सली, बोलेः हर शुक्रवार के बाद शनिवार जरूर आता है

Saharanpur Bulldozer: उत्तर प्रदेश में शुक्रवार को भड़की हिंसा के बाद कानपुर (Kanpur Violence) और सहारनपुर में हिंसा के आरोपियों और उनसे जुड़े कुछ लोगों के घर बुलडोजर चलाया गया है. उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले में हिंसा करने वाले आरोपियों के घर बुलडोजर चलाया गया है.

Just now: Bulldozers ran fiercely from Saharanpur to Kanpur, the rioters got a lot of satisfaction
Just now: Bulldozers ran fiercely from Saharanpur to Kanpur, the rioters got a lot of satisfaction
इस खबर को शेयर करें

सहारनपुर: Saharanpur Bulldozer: उत्तर प्रदेश में शुक्रवार को भड़की हिंसा के बाद कानपुर (Kanpur Violence) और सहारनपुर में हिंसा के आरोपियों और उनसे जुड़े कुछ लोगों के घर बुलडोजर चलाया गया है. उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले में हिंसा करने वाले आरोपियों के घर बुलडोजर चलाया गया है. यूपी पुलिस (UP Police) का कहना है कि आरोपियों के घर पर अवैध निर्माण को गिराया गया है. कानपुर में कार्रवाई पर पुलिस अफसर का कहना है कि जिस बिल्डिंग में ध्वस्तीकरण किया गया है, वो हिंसा के मुख्य आरोपी से जुड़ा भू माफिया है. अब तक हिंसा को लेकर 13 एफआईआर दर्ज की गई हैं. साथ ही 237 आरोपियों की गिरफ्तारी हुई है. पैगंबर मोहम्मद पर बीजेपी प्रवक्ता के विवादित बयान के बाद उत्तर प्रदेश में प्रयागराज, मुरादाबाद, सहारनपुर, कानपुर समेत कई स्थानों पर हिंसा भड़की थी.

जानकारी के मुताबिक, अभियुक्त मुजम्मिल पुत्र अस्मत निवासी राहत कॉलोनी 62 फुटा रोड थाना कोतवाली देहात जनपद सहारनपुर के मकान पर नगर निगम की टीम के साथ मिलकर द्वारा बुलडोजर प्रभावी कार्रवाई कारवाई की गई है. अभियुक्त अब्दुल वाकीर पुत्र बिलाल निवासी खाता खेड़ी बिलाल मस्जिद थाना मंडी जनपद सहारनपुर के मकान पर नगर निगम की टीम के साथ मिलकर द्वारा बुलडोजर प्रभावी कार्रवाई कारवाई हुई है. इस कार्रवाई के दौरान इलाके में भारी पुलिस बल भी मौजूद रहा.

उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों में शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद हुई हिंसा के सिलसिले में पुलिस ने 227 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया है. वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी है. अपर पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने बताया कि इस संबंध में राज्य में 227 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. इसमें प्रयागराज में 68, हाथरस में 50, सहारनपुर में 48, अंबेडकरनगर में 28, मुरादाबाद में 25 और फिरोजाबाद में आठ लोग शामिल हैं.

इस बीच, हिंसा करने वालों को परोक्ष चेतावनी देते हुए, उप्र के मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार मृत्युंजय कुमार ने शनिवार को एक ट्वीट में कहा, ‘उपद्रवी याद रखें, हर शुक्रवार के बाद एक शनिवार ज़रूर आता है…’ कुमार ने अपने ट्वीट के साथ एक इमारत को ध्वस्त करते हुए एक बुलडोजर की तस्वीर भी ट्वीट की.

सहारनपुर के अलावा आज कानपुर में भी हिंसा के एक हफ्ते बाद अवैध निर्माण को प्रशासन ने गिरा दिया है. घटना स्थल से करीब तीन किलोमीटर दूर यह भवन गिराया गया है. पुलिस ने बताया कि कानपुर हिंसा के मुख्य आरोपी से इस भवन मालिक का करीबी रिश्ता है और वह भी साजिश में शामिल है. अधिकारियों ने इस मामले की पुष्टि की है.

मुख्यमंत्री दिए कठोर काईवाई के निर्देश
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को अधिकारियों को निर्देश जारी करते हुए कहा, ”विगत दिनों प्रदेश के विभिन्न शहरों में माहौल बिगाड़ने के लिए हुए अराजक प्रयासों में शामिल समाजविरोधी तत्वों के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई होगी. ऐसे असामाजिक लोगों के लिए सभ्य समाज मे कोई स्थान नहीं है. यह ध्यान रखें कि किसी भी निर्दोष का उत्पीड़न न हो, लेकिन दोषी एक भी न बचे. बता दें कि उत्तर प्रदेश के प्रयागराज और सहारनपुर समेत कई जिलों में पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ भाजपा की निलंबित नेता नुपुर शर्मा की कथित आपत्तिजनक टिप्पणी को लेकर कल जुमे की नमाज के बाद लोगों ने नारेबाजी और पथराव किया था.