अभी अभी: बिहार में भीषण सड़क हादसा, दो जिंदा युवक बने आग का गोला, मची चीख पुकार

रोहतास जिले के चेनारी थाना क्षेत्र के टेकारी गांव के समीप एनएच दो पर सोमवार सुबह सड़क दुर्घटना में बाइक सवार दो युवकों की मौत हो गई। मृतकों में कैमूर जिले के सोनहन थाना क्षेत्र अंतर्गत अलीपुर निवासी स्व. सुदर्शन दुबे के 29 वर्षीय पुत्र लोकेश कुमार दुबे उर्फ फूलन तथा इसी थाना क्षेत्र के पशरामपुर गांव निवासी राम मुनि तिवारी के 30 वर्षीय पुत्र सोनू तिवारी शामिल हैं।

Just now: Horrific road accident in Bihar, two alive youths became a ball of fire, screams
इस खबर को शेयर करें

सासाराम /चेनारी। रोहतास जिले के चेनारी थाना क्षेत्र के टेकारी गांव के समीप एनएच दो पर सोमवार सुबह सड़क दुर्घटना में बाइक सवार दो युवकों की मौत हो गई। मृतकों में कैमूर जिले के सोनहन थाना क्षेत्र अंतर्गत अलीपुर निवासी स्व. सुदर्शन दुबे के 29 वर्षीय पुत्र लोकेश कुमार दुबे उर्फ फूलन तथा इसी थाना क्षेत्र के पशरामपुर गांव निवासी राम मुनि तिवारी के 30 वर्षीय पुत्र सोनू तिवारी शामिल हैं। लोकेश की मौत घटना स्थल पर ही हो गई जबकि सोनू ने इलाज के क्रम में कुदरा पीएचसी में दम तोड़ दिया। पुलिस ने दोनों शवों का पोस्टमार्टम करा स्वजनों को सौंप दिया है। लोकेश कुदरा में कौटिल्य नामक कोचिंग क्लास के संचालक थे।

शादी समारोह से लौटते समय हुआ हादसा
घटना के बारे में मृतक के छोटे भाई बालकेश दुबे ने बताया कि उनके भाई व पूरा परिवार अपने बड़े पिता दरिगांव थाना क्षेत्र के बभनगांवा निवासी रामशंकर दुबे के घर उनकी पुत्री की शादी समारोह में शामिल होने आए थे। रविवार रात को यहां कोचस से बारात आई थी। इसी में शामिल होने के बाद सुबह लौट रहे थे। रिश्ते में फुफेरे भाई सोनू के साथ बाइक पर सवार हो कुदरा स्थित कोचिंग सेंटर पर जा रहे थे। इसी क्रम में टेकारी गांव के समीप ट्रक की चपेट में आ गए।इस दुर्घटना में उनकी बाइक ट्रक में फंसकर घिसटते हुए लगभग दो सौ मीटर तक चली गई। कुछ दूर जाते ही बाइक की घर्षण से ट्रक में आग लग गई। इसमें दोनों वाहन सड़क पर ही जल गए।

घटना की सूचना के बाद शादी वाले घर में कोहराम मच गया। जिसे भी सूचना मिली वो घटनास्थल की ओर दौड़ पड़ा भाई ने बताया कि पुलिस सेवा में तैनात पिता की एक साल पूर्व बिमारी से निधन के बाद घर की सारी जिम्मेदारी उनके बड़े भाई लोकेश पर ही थी। उनके निधन से परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। सड़क दुर्घटना ने एक ही झटके में दो परिवार की खुशियां एक साथ छीन ली।