अभी-अभी: भीषण हादसे से दहले लोग, तालाब में पलटी सवारियों से भरी ट्रैक्टर ट्रॉली, अब तक 10 की मिली लाशें, मचा हाहाकार

कानपुर के साढ़ थाना क्षेत्र के कोरथा गांव निवासी शृद्धालू ट्रैक्टर-ट्राली से फतेहपुर में चंद्रिका देवी देवी मंदिर गए थे। जिसमें 40 लोग सवार थे। वापस लौटते समय साढ़ और गंभीरपुर गांव के बीच सड़क किनारे तालाब में ट्राली पलटने से 10 की मौत की सूचना है।

Just now: People stunned by a horrific accident, tractor trolley full of passengers overturned in the pond, 10 dead bodies found so far, outcry
Just now: People stunned by a horrific accident, tractor trolley full of passengers overturned in the pond, 10 dead bodies found so far, outcry
इस खबर को शेयर करें

कानपुर: साढ़ थाना क्षेत्र में उस वक्त हड़कंप मच गया। जब श्रद्धालुओं से भरी ट्रैक्टर-ट्राली अनियंत्रित होकर तालाब में पलट गई। इससे श्रद्धालुओं में चीख-पुकार मच गई। जानकारी के मुताबिक हादसे में 10 लोगों की मौत हो गई है। जबकि कई लोग घायल हो गए है। जानकारी पाकर पुलिस मौके पर पहुंची है।

साढ़ थाना क्षेत्र के कोरथा गांव निवासी शृद्धालू ट्रैक्टर-ट्राली से फतेहपुर में चंद्रिका देवी देवी मंदिर गए थे। ट्राली में करीब 40 लोग सवार थे। वापस लौटते समय साढ़ और गंभीरपुर गांव के बीच सड़क किनारे तालाब में ट्राली पलट गई। मौजूदा समय में 10 शव भीतरगांव सीएचसी पहुंचे हैं। 20 से 25 लोगों के मरने की सूचना है।

अपनों की मौत से स्वजन बेहाल
जानकारी पाकर कानपुर से भी कई अधिकारी मौके पर पहुंचे है। हालांकि राहत बचाव कार्य जारी है। एसपी आउटर तेज स्वरूप सिंह भी पुलिस फोर्स के साथ पहुंचे है। अपनों की मौत से स्वजन का रो-राेकर बुरा हाल हो गया है।

फतेहपुर के चंद्रिका देवी मंदिर गए थे सभी
बताया जा रहा है कि कोरथा में बच्चे का मुंडन करने माता-पिता रिश्तेदारों संग गए थे। पिता ही ट्रैक्टर चला रहा था। बच्चे, माता और पिता तीनों की मौत से स्वजन में दुखों का पहाड़ टूट गया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जताया शोक
सड़क हादसे में कई लोगों की मौत पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी गहरा दु:ख व्यक्त किया है। उन्होंने मृतकों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की। साथ ही दुर्घटना में घायल लोगों का समुचित उपचार कराने क अधिकारियों को निर्देश दिए है।

एलएलआर अस्पताल में पहुंचा फोर्स
हादसे की जानकारी पाते ही पुलिस के अधिकारी हैलट अस्पताल पहुंच गए। लेकिन अभी तक एक सीएचसी से एक भी शव एलएलआर हैलट अस्पताल नहीं पहुंचा है।