अभी अभीः वेस्ट यूपी में बारिश ने मचाई तबाही, 19 लोगों की मौत, भारी नुकसान, यहां देंखे

Noida Rain Ghaziabad Rain: यूपी में बारिश का सितम जारी है। दिन वही है, शुक्रवार का। पिछले शुक्रवार यानी 16 सितंबर को बारिश ने पूर्वी यूपी में तबाही मचाई थी। ठीक सात दिन बाद कुछ इसी प्रकार का नजारा पश्चिमी यूपी और बुंदेलखंड के इलाकों में देखने को मिल रहा है।

Just now: Rain wreaks havoc in West UP, 19 people killed, heavy damage, see here
Just now: Rain wreaks havoc in West UP, 19 people killed, heavy damage, see here
इस खबर को शेयर करें

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के विभिन्‍न जिलों में भारी बारिश से हुए हादसों में 19 लोगों की जान जाने का मामला सामने आया है। इसके अलावा हादसों में सैकड़ों लोग घायल हो गए। इटावा में बीते 24 घंटों में 69.66 मिलीमीटर बारिश हुई। वहीं, फिरोजाबाद में भी करीब 79 मिलीमीटर बारिश हुई। सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में बारिश से जान गंवाने वालों के परिवारीजनों को मुआवजा देने और घायलों को भी उचित मदद दिलवाने के निर्देश दिए हैं। इटावा में भारी बारिश के मद्देनजर डीएम शुक्रवार और शनिवार को स्कूल और कॉलेजों की छुट्टी कर दी है। कानपुर में 34.2 मिलीमीटर बारिश हुई है। बारिश के कारण शहर में जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है।

यूपी में बारिश की वजह से गुरुवार से लेकर अब तक 19 लोगों की मौत हो गई है, जिसमें से 10 बच्चे शामिल हैं। शुक्रवार सुबह से ही प्रदेश के विभिन्न इलाकों में बारिश हो रही है। लोगों को भारी बारिश के कारण काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। नोएडा और गाजियाबाद में बारिश से लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। भारी बारिश के कारण कासगंज, एटा, हाथरस, जालौन, बुलंदशहर, आगरा और फिरोजाबाद में लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। यूपी के 37 जिलों के लिए मौसम विभाग ने भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।

सहारनपुर में लोगों को शुक्रवार की सुबह से ही तेज बारिश का सामना करना पड़ रहा है। सुबह से ही शहर में मूसलाधार बारिश हो रही है। बारिश के कारण शहर में अंधेरा जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई। इस कारण दिन में लोगों को गाड़ियों की लाइट जलानी पड़ी। शहर में पुराने इलाके पानी से लबालब हो गए हैं। नालियां चॉक हो गई हैं। स्मार्ट सिटी योजना के तहत खोदी गई सड़कों पर चलना भी खतरनाक हो गया है।

गाजियाबाद में गिरे ईडब्लूएस मकान के छज्जे
गाजियाबाद में ईडब्लूएस मकान के छज्जे गिरने का मामला सामने आया है। छज्जों के गिरने से कई गाड़ियों को नुकसान पहुंचा है। हालांकि, जानमाल की हानि नहीं हुई है। वहीं, फैजाबाद से भारी बारिश के कारण मंदिर के धंसने की सूचना आ रही है। आठ जिलों में बारिश से हाल-बेहाल है। बच्चों की सुरक्षा और बारिश के कारण होने वाली असुविधा को देखते हुए स्कूलों को बंद करने का आदेश जारी किया गया है।

चार अनाथ भाई-बहनों की मौत
इटावा के जिलाधिकारी अवनीश राय ने बताया कि सिविल लाइंस थाना क्षेत्र के चंद्र पुरा गांव में बुधवार रात एक मकान की दीवार ढह गई। हादसे में एक ही परिवार के चार-भाई बहनों शिंकू (10), अभि (8), सोनू (7) और आरती (5) की मौत हो गई। हादसे में बच्चों की दादी चांदनी देवी (70) और 5 वर्षीय भाई घायल हो गया। उन्‍हें अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। बच्चों के माता-पिता का कोरोना में देहांत हो गया था। इसके बाद से बच्चे दादी के पास रह रहे थे। वहीं इकदिल थानाक्षेत्र में कृपालपुर गांव के निकट पेट्रोल पंप की दीवार उसके सहारे बनी झोपड़ी पर गिर गई। मलबे में दबकर राम सनेही (65) और उनकी पत्नी रेशमा देवी (62) की मौत हो गई।

चकरनगर थानाक्षेत्र के अंदावा के बंगलन गांव में बारिश से दीवार ढह गई। हादसे में वहां सो रहे जबर सिंह (50) की मलबे में दबकर मौत हो गई। जिला मुख्यालय के मोहल्ला घटिया अजमल और मेवाती टोला में मकान गिरने से अबदू (3), आलिया (5 माह) और सुभाना की मौत हो गई।

फिरोजाबाद के जिलाधिकारी रवि रंजन ने बताया कि शिकोहाबाद के बंशीनगर निवासी सुनील के बेटे शिवम की (6) की मकान के मलबे में दबने से मौत हो गई। घर के बाकी 8 सदस्यों को जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। नगला गवे में दीवार ढहने से इसहाक अली (57) की जान चली गई। बांदा के मरका थाना क्षेत्र में बारिश के दौरान कबीरपुर (टोलाकाजी) गांव में कच्चा मकान ढह गया। हादसे में जगमोहन (75) की मौत हो गई, जबकि उनकी पत्नी सुखदेइया (70) गंभीर रूप से घायल हो गई।

बलरामपुर के पचपेड़वा थाना क्षेत्र के बरगदवा सैफ गांव में बिजली गिरने से अशरफ (13) की मौत हो गई और उसका चचेरा भाई (12) झुलस गया। हमीरपुर के मुस्कुरा कस्बे में कच्चा मकान गिरने से महिला जयकुंवर (42) की जान चली गई।