अभी अभीः रूसी राष्ट्रपति पुतिन ने किया यूक्रेन पर कब्जे का ऐलान! पूरी दुनिया में मची खलबली

पुतिन ने कहा कि डोनेट्स्क, लुहान्स्क, जापोरिजिया, खेरसॉन के लोग अब रूसी नागरिक हो चुके हैं। अगर इन पर हमला हुआ तो उसे रूस पर हमला माना जाएगा। रूस अपने नागरिकों और अपनी संप्रभुता की रक्षा के लिए पूरी ताकत से जवाबी कार्रवाई करेगा। उन्होंने वादा किया कि इन इलाकों में यूक्रेनी हमले से बर्बाद हुए अस्पताल, स्कूलों और दूसरे सार्वजनिक स्थलों का फिर से निर्माण किया जाएगा।

Just now: Russian President Putin announces occupation of Ukraine! There was uproar all over the world
Just now: Russian President Putin announces occupation of Ukraine! There was uproar all over the world
इस खबर को शेयर करें

मॉस्को: रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने यूक्रेन के कब्जे वाले चार इलाकों को अपने देश में शामिल करने के आधिकारिक दस्तावेद पर हस्ताक्षर कर दिए हैं। उन्होंने दस्तावेज पर हस्ताक्षर के वक्त रूसी शीर्ष अधिकारियों को सबोधित करते हुए यूक्रेन और पश्चिमी देशों को चेतावनी भी दे दी। पुतिन ने कहा कि डोनेट्स्क, लुहान्स्क, जापोरिजिया, खेरसॉन के लोग अब रूसी नागरिक हो चुके हैं। अगर इन पर हमला हुआ तो उसे रूस पर हमला माना जाएगा। रूस अपने नागरिकों और अपनी संप्रभुता की रक्षा के लिए पूरी ताकत से जवाबी कार्रवाई करेगा। उन्होंने वादा किया कि इन इलाकों में यूक्रेनी हमले से बर्बाद हुए अस्पताल, स्कूलों और दूसरे सार्वजनिक स्थलों का फिर से निर्माण किया जाएगा। उन्होंने युद्ध में मारे गए रूसी सैन्य अधिकारियों और डोनबास के नागरिकों को शहीद का दर्जा दिया और भाषण के दौरान उनके सम्मान में दो मिनट का मौन भी रखा।

पुतिन ने जनमत संग्रह का दावा कर यूक्रेनी इलाके को शामिल किया
पुतिन ने क्रेमलिन में कहा कि रूस के प्रिय निवासियों, डोनेट्स्क और लुगांस्क पीपुल्स रिपब्लिक के निवासियों, जापोरिजिया, और खेरसॉन क्षेत्रों के लोग … आप जानते हैं कि जनमत संग्रह हुआ है। परिणामों की गणना की गई है। परिणाम ज्ञात हैं। लोगों ने अपनी पसंद बनाई है , एक स्पष्ट पसंद है। पुतिन ने विश्वास व्यक्त किया कि संघीय विधानसभा रूस में नए क्षेत्रों के औपचारिक प्रवेश पर कानूनों का समर्थन करेगी। पुतिन ने कहा कि मुझे यकीन है कि संघीय विधानसभा रूस में चार नए क्षेत्रों, रूसी संघ के चार नए विषयों के प्रवेश और गठन पर संवैधानिक कानूनों का समर्थन करेगी, क्योंकि यह लाखों लोगों की इच्छा है।

यूक्रेन युद्ध में मारे गए लोगों को पुतिन ने बताया नायक
पुतिन ने कहा कि यह अधिकार रूस के साथ चार क्षेत्रों के निवासियों की पीढ़ियों की ऐतिहासिक एकता पर भी आधारित है, प्राचीन रूस की अवधि से लेकर कैथरीन द ग्रेट तक, द्वितीय विश्व युद्ध तक। उन्होंने फरवरी 2014 में कीव में तख्तापलट के बाद पूर्वी और दक्षिणी यूक्रेन में 2014 समर्थक रूसी अशांति का जिक्र करते हुए कहा, “हम हमेशा रूसी वसंत के नायकों को याद करेंगे।” जो अपनी मातृभाषा में अधिकार के लिए मरे, अपनी संस्कृति, परंपराओं, अपने विश्वास को बनाए रखने के लिए। उनके जीने के अधिकार के लिए। “इसमें डोनबास के लड़ाके, ‘ओडेसा खतिन’ के शहीद, अमानवीय आतंकवाद के शिकार शामिल हैं। इसमें स्वयंसेवक और मिलिशियामेन, नागरिक, महिलाएं और बच्चे, बुजुर्ग शामिल हैं। रूसी, यूक्रेनियन, विभिन्न राष्ट्रीयताओं के लोग भी शामिल हैं।

अमेरिका पर जमकर बरसे पुतिन
उन्होंने अमेरिका पर रूस के पूर्ववर्ती नेताओं को बहकाने का आरोप भी लगाया। पुतिन ने कहा कि पश्चिमी देशों ने हमारे पूर्ववर्ती नेताओं को हथियारों को कम करने पर राजी कर मुर्ख बनाया। उन्होंने अपने हथियार कम नहीं किए और हमें ऐसा करने के लिए राजी कर लिया। इससे क्या हुआ। अमेरिका लाखों लोगों की हत्या का आरोपी है। उसने पूरी दुनिया में एक देश को दूसरे से लड़ाया। इतना ही नहीं, अमेरिका तो अपने ही सहयोगियों पर हमला करता है। कोई भी सुरक्षित नहीं है। वह पूरी दुनिया को कंट्रोल करना चाहता है। अमेरिका ने ही जापान पर परमाणु बम से हमला किया। अमेरिका को छोड़कर किसी भी देश ने परमाणु हथियारों का इस्तेमाल नहीं किया है।

पुतिन ने अपने भाषण के दौरान यूक्रेन से सीजफायर करने की अपील की। उन्होंने कहा कि पश्चिमी देशों के चढ़ाने पर यूक्रेन की सरकार नाजीवादी तरीके अपना रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि यूक्रेनी सरकार रूसी भाषी लोगों का नरसंहार कर रही थी। ऐसे में रूस का यह दायित्व था कि वह अपने लोगों की रक्षा करे। इसी कारण वहां के लोगों ने यूक्रेनी सत्ता के खिलाफ हथियार उठाया और उन्हें अपनी ताकत का अहसास कराया। पुतिन ने कहा कि अपनी आजादी के लिए लड़ने वाले लोग हमारे असली नायक हैं।