अभी अभीः नीरज चोपड़ा का सपना तोड़ने वाले वाले खिलाडी पर लात-घूसों की बरसात, जमकर पीटा

अमेरिका में हाल ही में हुई वर्ल्ड एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में गोल्ड मेडल जीतने वाले ग्रेनाडा के जेवलिन थ्रोअर एंडरसन पीटर्स को उन्हीं के देश में एक बोट पर कुछ लोगों ने पिटाई कर दी. इसका वीडियो वायरल हो रहा है. इस मामले में पुलिस ने कुछ लोगों को हिरासत में लिया है. नीरज चोपड़ा की गैरहाजिरी में पीटर्स कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल नहीं जीत पाए थे.

Just now: The player who broke Neeraj Chopra's dream was kicked and thrashed fiercely
Just now: The player who broke Neeraj Chopra's dream was kicked and thrashed fiercely
इस खबर को शेयर करें

नई दिल्ली. भारतीय जेवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा का विश्व चैम्पियन बनने का सपना तोड़ने वाले ग्रेनाडा के एंडरसन पीटर्स के साथ उन्हीं के देश में मारपीट हुई है, जिससे वो घायल हो गए हैं. पीटर्स कॉमनवेल्थ गेम्स के बाद इसी हफ्ते अपने देश लौटे थे. कैरेबियन नेशनल डेली की खबर के मुताबिक, पीटर्स की कुछ लोगों ने पिटाई कर दी और उन्हें बोट से बाहर फेंक दिया. इस मामले में पुलिस ने कुछ लोगों को हिरासत में लिया है. इस घटना का वीडियो भी वायरल हो रहा है. इसमें देखा जा सकता है कि एक बोट पर कुछ लोग पीटर्स के साथ मारपीट कर रहे हैं. इसके बाद उन्हें नीचे फेंक दिया गया था.

पीटर्स ने हाल ही में अमेरिका के यूजिन में हुई वर्ल्ड एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में जेवलिन थ्रो इवेंट का गोल्ड मेडल जीता था. उन्होंने 90.54 मीटर दूर भाला फेंक अपने खिताब का बचाव किया था. टोक्यो ओलंपिक में गोल्ड जीतने वाले नीरज ने 88.13 मीटर दूर भाला फेंकते हुए सिल्वर मेडल जीता था. हालांकि, पीटर्स कॉमनवेल्थ गेम्स में अपने इस प्रदर्शन को नहीं दोहरा पाए थे और जेवलिन थ्रो का गोल्ड मेडल पाकिस्तान के अरशद नदीम ने जीता था. नदीम ने 90.18 मीटर की दूरी तय करते हुए गोल्ड मेडल जीता था. जबकि पीटर्स को रजत पदक से संतोष करना पड़ा था.

कैरेबियन एसोसिएशन ऑफ नेशनल ओलिंपिक कमेटी के अध्यक्ष ब्रायन लुईस ने बताया, ‘मैं शब्दों में बयां नहीं कर सकता कि मुझे इस घटना का कितना दुख और अफसोस है. इस घटना का वीडियो देखकर मन बेहद दुखी है.’

पीटर्स की ग्रेनाडा में ही हुई पिटाई
जिस बोट पर यह घटना हुई है, वो त्रिनिदाद के ट्रेड मिनिस्टर के बेटे की है. इस मामले में ग्रेनाडा की ओलंपिक कमेटी ने एक दिन पहले आधिकारिक बयान के जरिए यह जानकारी दी थी कि पीटरसन के साथ मारपीट करने वाले लोग ग्रेनाडा के नहीं थे और इस मारपीट की घटना में इस एथलीट को गंभीर चौट नहीं आई है. फिलहाल, हमारी नजर पीटर्स की रिकवरी पर है. इस मामले को लेकर हम सब पीटर्स के साथ हैं और हमारी कोशिश होगी कि उन्हें जल्द से जल्द न्याय मिले.