अभी-अभी: राजस्थान के 15 जिलों में फैली यह गंभीर बीमारी, हाई अलर्ट, सीएम गहलोत ने…

सीएम ने कहा कि गौशालाओं की साफ-सफाई, सोडियम हाइपोक्लोराइट का छिड़काव, फॉगिंग तथा जेसीबी की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जाए. दवाइयों की कोई कमी नहीं आने दी जा रही है.

Just now: This serious disease spread in 15 districts of Rajasthan, high alert, CM Gehlot...
Just now: This serious disease spread in 15 districts of Rajasthan, high alert, CM Gehlot...
इस खबर को शेयर करें

जयपुर: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि राज्य के 15 जिलों में पशुओं में लम्पी चर्म रोग फैल चुकी है. अब हमारी प्राथमिकता यह है कि इस बीमारी को और अधिक जिलों में फैलने से रोका जाए. उन्होंने कहा कि लम्पी चर्म रोग की रोकथाम के लिए सभी जिला कलेक्टर को जरूरत पड़ने पर बिना टेंडर दवाईयां खरीदने के आदेश जारी किए जा चुके हैं और युद्धस्तर पर इस महामारी के उपचार एवं रोकथाम के लिए पुख्ता प्रबन्ध करने के निर्देश दिए हैं.

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार पूरी गंभीरता और संवेदनशीलता के साथ पशुओं में फैल रहे लम्पी बीमारी पर नियंत्रण पाने के लिए काम कर रही है और प्रशासन की त्वरित क्रियाशीलता के चलते संक्रमण एवं मृत्यु दर में कमी आई है.

अशोक गहलोत सोमवार को मुख्यमंत्री निवास पर आयोजित लम्पी चर्म रोग बीमारी की समीक्षा बैठक को संबोधित कर रहे थे इस बैठक में वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से सांसद, सभी जिलों के प्रभारी मंत्री, विधायकगण, सभी जिला कलेक्टर, गौशाला प्रबंधक, पशुपालक, सरपंच, वार्ड पंच, स्थानीय निकायों के महापौर, चैयरमेन, पार्षद आदि जुड़े.

मुख्यमंत्री ने कहा कि हम सभी को मिलकर गोवंश में फैली इस बीमारी का सामना करना है. लम्पी चर्म रोगी मृत पशुओं के निस्तारण के संबंध में जिला कलेक्टर को दिशा-निर्देश जारी किए जाएं और सभी जिलों में नियंत्रण कक्ष भी स्थापित किए जा चुके हैं. उन्होंने आयुर्वेद विभाग से सुझाव लेकर देशी उपचार के गाइडलाइन जारी करने के निर्देश मुख्य सचिव को दिए.

सीएम ने कहा कि गौशालाओं की साफ-सफाई, सोडियम हाइपोक्लोराइट का छिड़काव, फॉगिंग तथा जेसीबी की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जाए. दवाइयों की कोई कमी नहीं आने दी जा रही है, टीकों का परीक्षण जारी है और विकल्प के रूप में गोट पॉक्स के टीकों का उपयोग किया जा रहा है.