अभी अभीः DG का गला काटने वाला नौकर यासिर अहमद गिरफ्तार, खुलासे से हिल जायेंगे आप

Yasir Lohar Arrested: जम्मू-कश्मीर के DG जेल हेमंत कुमार लोहिया की हत्या का मुख्य आरोपी यासिर अहमद पकड़ा गया है. पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है.

Just now: Yasir, the servant who slit DG's throat, arrested, made a sensational disclosure
Just now: Yasir, the servant who slit DG's throat, arrested, made a sensational disclosure
इस खबर को शेयर करें

DG Prisons HK Lohia Murder Case: जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) कारागार विभाग के पुलिस महानिदेशक हेमंत कुमार लोहिया (Hemant Kumar Lohia) की हत्या का मुख्य आरोपी यासिर अहमद (Yasir Ahemad) गिरफ्तार किया जा चुका है. पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है. आरोपी को कचानक (Kachanak) इलाके से दबोचा है. आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस रातभर से दबिश दे रही थी. जानकारी के मुताबिक, आरोपी यासिर अहमद कचानक इलाके के खेतों में छिपा हुआ था और फरार होने से पहले उसने अपना मोबाइल फोन फेंक दिया था.

जम्मू-कश्मीर पुलिस के मुताबिक, आरोपी यासिर अहमद डीजी जेल के आवास पर घरेलू सहायक के रूप में काम करता था. वह पिछले करीब छह महीने से अधिकारी के यहां सेवा दे रहा था. इससे पहले पुलिस ने आरोपी को दबोचने के लिए उसकी तस्वीर भी जनता के बीच साझा की थी और अपील की थी कि जिस किसी को भी आरोपी की सूचना मिले, वो तुरंत पुलिस को जानकारी दे.

पुलिस के हाथ लगे अहम सबूत

पुलिस के मुताबिक, शुरुआती जांच में ऐसे दस्तावेजी सबूत मिले हैं जिनसे आरोपी की मानसिक स्थिति के बारे में चलता है. पुलिस ने सूत्रों के हवाले से जानकारी दी थी कि आरोपी आक्रामक स्वभाव वाला है और अवसाद में था. सूत्रों के मुताबिक, पुलिस को जो दस्तावेजी सबूत मिले हैं, उनमें आरोपी यासिर अहमद की डायरी शामिल है. डायरी से ऐसे संकेत मिले हैं कि अधिकारी की हत्या आरोपी ने की है. डायरी में जो कुछ लिखा गया है, उससे उसके काफी दिनों से डिप्रेशन में होने का संकेत मिलता है.

पुलिस ने जानकारी दी थी कि आरोपी यासिर अहमद मूल रूप से रामबन का रहने वाला है. पुलिस ने कई सारे सीसीटीवी फुटेज इकट्ठा किए थे, जिनमें आरोपी को वारदात के बाद भागते हुए देखा गया था.

इस आतंकी संगठन ने ली हत्या की जिम्मेदारी

जैश-ए-मोहम्मद से संबंध रखने वाले आतंकी संगठन पीएएफएफ की ओर से प्रेस रिलीज जारी कर अधिकारी की हत्या की जिम्मेदारी ली गई है. हालांकि, पुलिस ने शुरुआती जांच के आधार पर कहा है कि अभी स्पष्ट नहीं है कि यह आतंकी घटना है या नहीं. हालांकि, पुलिस ने यह भी कहा है कि जब तक जांच चल रही है तब तक किसी भी संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है.

आतंकी संगठन पीएएफएफ ने प्रेस रिलीज में यह कहा

आतंकी संगठन पीएएफएफ ने कहा है कि उसके एक विशेष दस्ते ने जम्मू के उदयवाला में एक खुफिया ऑपरेशन के तहत पुलिस महानिदेशक (जेल विभाग) एचके लोहिया को अपने कीमती लक्ष्य के तहत मार दिया है. आतंकी संगठन ने आगे कहा, ”सुरक्षा जाल के बीच जम्मू-कश्मीर के दौरे पर आए गृह मंत्री के लिए यह एक छोटा सा तोहफा है.”

बता दें कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह तीन दिन के लिए जम्मू-कश्मीर के दौरे पर आए हैं. गृह मंत्री शाह ने पुलिस से रिपोर्ट तलब की है. 1992 बैच के आईपीएस अधिकारी हेमंत लोहिया को अगस्त में डीजीपी जेल के रूप में तैनात किया गया था. यह भी जानकारी सामने आई है कि उनके शरीर पर जलने के निशान भी मिले हैं. सोमवार (3 अक्टूबर) की देर रात हेमंत लोहिया की गला रेतकर हत्या कर दी गई.