जानें क्या होता है वजू? जो ज्ञानवापी मस्जिद में कथित शिवलिंग के ऊपर करते थे नमाज पढने वाले

कोर्ट ने अपने आदेश में शिवलिंग के आसपास जाने पर रोक लगा दी. अब यहां कोई आ जा नहीं सकता है. यहां वजू पर भी पाबंदी लगा दी गई है. साथ ही ज्ञानवापी में अब सिर्फ 20 लोगों के नमाज की बात कही गई है.

Know what is Wuzu? Those who used to offer Namaz on the alleged Shivling in Gyanvapi Mosque
Know what is Wuzu? Those who used to offer Namaz on the alleged Shivling in Gyanvapi Mosque
इस खबर को शेयर करें

वाराणसी। ज्ञानवापी में कथित तौर पर शिव का प्रतीक मिलने के बाद हिंदू पक्ष भोले नाथ के जयकारे लगा रहा है. हर हर महादेव के नारे लगा रहा है. ज्ञानवापी मस्जिद में शिवलिंग मिलने के दावे के साथ ही हिंदू पक्ष हरकत में आ गया और फौरन शिवलिंग के संरक्षण के लिए कोर्ट का रुख किया. दलील सुनने के बाद कोर्ट ने भी शिवलिंग को सुरक्षित करने का आदेश दिया। कोर्ट ने अपने आदेश में शिवलिंग के आसपास जाने पर रोक लगा दी. अब यहां कोई आ जा नहीं सकता है. यहां वजू पर भी पाबंदी लगा दी गई है. साथ ही ज्ञानवापी में अब सिर्फ 20 लोगों के नमाज की बात कही गई है. हालांकि हिंदू पक्ष के बड़े दावों और कोर्ट के आदेश के बीच मुस्लिम पक्ष शिवलिंग मिलने की बात को नकार रहा है. हिंदू पक्ष के हर दावे को गलत बता रहा है।

क्या होता है वजू

नमाज पढने से पहले नमाजी को दोनों हथेलियों को धोना, कुल्ली करना, नाक साफ करना, चेहरा धोना, कुहनियों तक हाथ का धोना, सर के बालों पर भीगा हाथ फेरना और दोनों पैरों को धोना होता है। वजू के बाद नमाज पढ़ी जाती है।

1990 की तस्वीर
’जिसकी नंदी प्रतीक्षा कर रही थीं, वो बाबा मिल गए’

दरअसल ज्ञानवापी के चप्पे-चप्पे की पड़ताल के बाद अब हिंदू पक्ष ने मस्जिद परिसर में शिवलिंग मिलने का दावा किया है. याचिकाकर्ता लक्ष्मी देवी के पति सोहन लाल ने नंदी के ठीक सामने बाबा भोलेनाथ की तलाश पूरी होने की बात कही है. उनका कहना है, ’जिसकी नंदी प्रतीक्षा कर रही थीं, वो बाबा मिल गए.’

हिंदू पक्ष की ओर से दावा है कि वजूखाने के पास कुंए का पानी हटाते ही विशाल शिवलिंग प्रकट हुआ. बताया जा रहा है कि नंदी की मूर्ति के सामने मिले शिवलिंग का व्यास 12 फीट 8 इंच है. इसकी गहराई भी काफी ज्यादा है. पहले दिन का सर्वे पूरा होने के बाद ही कल्पना से परे सबूत मिलने की बात कहने वाला हिंदू पक्ष अब काफी उत्साहित है.

मुस्लिम पक्ष ने हिंदू पक्ष के दावे को किया खारिज

ज्ञानवापी के सर्वे में शिवलिंग मिलने के दावे के बाद वाराणसी में हर ओर हलचल है. हर कोई इस दावों की सच्चाई जनाना चाहता है. सर्वे के बाद वीडियोग्राफर से भी इन दावों के लेकर सवाल हुआ, लेकिन उसने गोपनीयता का जिक्र कर खुलकर कोई जवाब नहीं किया. अब मंगलवार को कोर्ट में सर्वे की पूरी रिपोर्ट पेश जानी है.

कल कोर्ट कमिश्नर सौंपेगे रिपोर्ट

खैर ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे का काम पूरा हो चुका है. उम्मीद है कि कोर्ट कमिश्नर की रिपोर्ट से दोनों पक्षों के दावों की सच्चाई सामने आ सकेगी. ज्ञानवापी मस्जिद है या मंदिर? पूरी सच्चाई पता चल सकेगी.