मेरठ में तेंदुए का आतंक, बच्चे नहीं गए स्कूल, बेटी से दुष्कर्म के दोषी पिता को सजा

Leopard terror in Meerut, children did not go to school, father convicted of raping daughter punished
Leopard terror in Meerut, children did not go to school, father convicted of raping daughter punished
इस खबर को शेयर करें

मुजफ्फरनगर। शुक्रवार सुबह एक बार फिर तेंदुआ शहर की घनी आबादी में घुस आया। कंकरखेड़ा के आर्य नगर में सुबह 5:28 और 5:45 पर सीसीटीवी फुटेज में तेंदुए कैद हुआ। सुबह तेंदुए की सूचना से क्षेत्र के लोग दिनभर अपने घरों में कैद रहे। सूचना पर पहुंचे वन विभाग के लोगों ने टीम टीमें बनाकर तेंदुए की तलाश शुरू की। टीम को तेंदुए के पंजों के निशान मिले, लेकिन तेंदुआ नहीं मिला। देर रात तक वन विभाग की टीम की ओर से क्षेत्र में कॉम्बिंग की जाती रही।

कंकरखेड़ा के सरधना रोड स्थित आर्य नगर निवासी शारदा देवी के मकान पर सीसीटीवी लगे हुए हैं। उनके सीसीटीवी फुटेज में तेंदआ साफ दिखाई पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि सुबह पौने छह बजे उन्हें एक युवक के चिल्लाने की आवाज आई। आवाज सुनकर परिवार के सदस्य बाहर की तरफ दौड़े। जहां बाइक सवार युवक आदित्य ठाकुर ने परिवार को बताया कि वह सुबह के समय शाखा में जा रहा था। इसी बीच उसकी बाइक के सामने अचानक से एक तेंदुआ आ गया। तेंदुए को देखकर युवक ने बाइक रोक ली। बाइक की लाइट को देखकर तेंदुआ दूसरी तरफ भाग गया। युवक ने घबराकर शोर मचा दिया।

क्षेत्र में तेंदुआ मिलने की सूचना पर कॉलोनी में हड़कंप मच गया। वहीं दूसरी फुटेज में तेंदुआ एक घर में बैठा दिखाई पड़ रहा है। सूचना पर वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची। वन विभाग की टीम को मौके से तेंदुए के पैरों के निशान मिले। टीम तेंदुए को पकड़ने के लिए जाल बिछाने की तैयारी कर रही है। इस दौरान थाना पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। थाना प्रभारी विष्णु कौशिक का कहना है कि एहतियात के तौर पर पुलिस को तैनात कर दिया गया है। साथ ही लोगों को जरूरी काम से ही घर से बाहर निकलने की सलाह दी गई है।