यूपी में ट्रैफिक उल्लंघन करने वालों के खिलाफ 10 दिन चलेगा अभियान, लगेगा 1 लाख तक का जुर्माना

यातायात निदेशालय की तरफ से जारी 10 दिन के लिए सभी जिलों मे सघन चेकिंग अभियान चलाने के निर्देश दिए गए हैं. यह अभियान विशेष तौर पर ग्रामीण क्षेत्रों में चलाया जाएगा. इस संबंध में यातायात निदेशालय ने एडवाइजरी भी जारी की है.

Lessons from road accidents - 10 days campaign against traffic violators in UP, a fine of up to 1 lakh will be imposed
Lessons from road accidents - 10 days campaign against traffic violators in UP, a fine of up to 1 lakh will be imposed
इस खबर को शेयर करें

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में बीते दिनों बढ़े सड़क हादसों को देखते हुए योगी सरकार एक्टिव मोड में आ गई है. यातायात निदेशालय की तरफ से जारी 10 दिन के लिए सभी जिलों मे सघन चेकिंग अभियान चलाने के निर्देश दिए गए हैं. यह अभियान विशेष तौर पर ग्रामीण क्षेत्रों में चलाया जाएगा. इस संबंध में यातायात निदेशालय ने एडवाइजरी भी जारी की है.

दरअसल, मालवाहक वाहनों के साथ ही साथ ट्रैक्टर ,ट्रॉली, डाला, डंपर को सवारियों के लिए इस्तेमाल ना करने के निर्देश दिए गए हैं. वहीं, दोषी पाए जाने पर 1 लाख रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा. सभी जिला अधिकारी के समन्वय से सभी ग्राम पंचायत ग्राम प्रधान एवं पंचायत सचिव के माध्यम से अभियान चलाया जाएगा. एडीजी यातायात ने सभी जिलों के कप्तानों और जिलाधिकारियों को इस संबंध में निर्देश दिए हैं.

बता दें, पिछले दिनों प्रदेश में सड़क हादसे में कई लोगों ने जान गंवाई है. लखनऊ के इटौंजा और कानपुर में ट्रैक्टर ट्राली से हुई दुर्घटना को लेकर संज्ञान लिया गया है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी लोगों से यात्रा के दौरान सुरक्षा मानकों का पूरी तरह पालन करने की अपील की है. उन्होंने कहा है कि ट्रैक्टर ट्रॉली तथा ट्रक से यात्रा असुरक्षित हैं, इसलिए यात्रा के लिए किसी भी दशा में ट्रैक्टर ट्रॉली या ट्रक का उपयोग न किया जाए.

मुख्यमंत्री ने सड़क सुरक्षा को देखते हुए ग्रामीण इलाकों में विशेष जागरूकता अभियान संचालित करने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने कहा कि प्रत्येक ग्राम पंचायत में अगले एक पक्ष में बैठकें आयोजित कर पुलिस तथा परिवहन विभाग द्वारा आमजन को सुरक्षित परिवहन साधनों को अपनाने के लिए जागरूक किया जाए. सूचना, लोक निर्माण तथा परिवहन विभागों द्वारा इस संबंध में प्रमुख स्थानों पर जागरुकता हेतु होर्डिंग्स लगाई जाएं.

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को सड़क सुरक्षा के दृष्टिगत प्रवर्तन कार्यों में तेजी लाने के निर्देश देते हुए कहा कि इस सम्बन्ध में परिवहन तथा पुलिस विभाग की विशेष भूमिका है. उन्होंने कहा कि इस कार्यवाही में जनता का सहयोग लिया जाए. इसके लिए फोन नंबर जारी किए जाएं, जिस पर जागरूक नागरिक ओवरलोडिंग तथा सड़क सुरक्षा के उल्लंघन से जुड़ी किसी भी गतिविधि की जानकारी दे सकें. इस कार्य से ‘112’ सेवा को भी जोड़ा जाए. ट्रैफिक उल्लंघन की जानकारी देने के लिए पुलिस द्वारा इस संबंध में 0522-2390468 तथा 9454402555 नम्बर जारी किए गए हैं.