प्रियंका चोपड़ा तरह भारती सिंह ने भी अपने बेटे का रखा है पुराना नाम, 2 महीने बाद किया खुलासा

Bharti Singh Baby Name: भारती सिंह ने बेटे को दो महीने बाद उसके नाम का खुलासा कर दिया है. भारती ने भी प्रियंका चोपड़ा की तरह अपने बेटे का कॉमन लेकिन मीनिंगफुल नाम रखा है.

Like Priyanka Chopra, Bharti Singh has also kept her son's old name, revealed after 2 months
Like Priyanka Chopra, Bharti Singh has also kept her son's old name, revealed after 2 months
इस खबर को शेयर करें

Bharti Singh Baby Boy Name: लाफ्टर क्वीन भारती सिंह और हर्ष लिम्बाचिया का बेटा दो महीने का हो चुका है. ऐसे में भारती ने अब बेटे का नाम का खुलासा किया है, काफी समय से भारती ने बेटे के नाम को लेकर सस्पेंस बनाकर रखा था. भारती यूं तो प्यार से बेटे को गोला कहकर बुलाती हैं जो कि हर किसी के लिए काफी फनी थीं लेकिन अब कॉमेडियन के बेटे का असली नाम भी सामने आ चुका है.

भारती ने रखा बेटे का ये नाम
शुरू में भारती सिंह और हर्ष लिम्बाचिया ने कहा था कि, वे अपने बच्चे को प्यार से गोला कहते हैं, लेकिन जल्द ही वे अपने बेटे के नाम का खुलासा करेंगे. अब, कॉमेडियन के बेटे के नाम का खुलासा हुआ है. दरअसल, ‘ईटाइम्स’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, अपने एक वीडियो में भारती ने साझा किया कि, उनका बेटा अपनी मां और पिता को काम करते देखने का आदी है. मजाकिया भारती ने आगे कहा कि, ‘लक्ष्य’ भी पैदा होने से पहले काम कर रहा था. भारती के इस स्टेटमेंट से साफ है कि, उन्होंने अपने बेटे का नाम लक्ष्य रखा है.

पुराना लेकिन मीनिंगफुल नाम
यूं तो लक्ष्य कोई नया नाम नहीं है. ऐसे में फैंस का मानना है कि भारती ने भी प्रियंका चोपड़ा की तरह अपने बेटे का कॉमन लेकिन मीनिंगफुल नाम रखा है. प्रियंका चोपड़ा ने अपनी बेटी का नाम मालती रखा है जो कि काफी पुराना नाम है. भारती और हर्ष का यू-ट्यूब चैनल है ‘लाइफ ऑफ लिम्बाचियाज’. इस चैनल पर भारती अपनी पर्सनल लाइफ से जुड़े व्लॉग्स फैंस के साथ शेयर करती रही हैं. भारती के व्लॉग्स हर किसी को काफी पसंद आते हैं.

नहीं दिखाया बेटे का चेहरा
बता दें कि भारती ने अभी तक अपने बेटे का चेहरे भी नहीं दिखाया है. भारती और हर्ष को आखिरी बार ‘हुनरबाज’ और ‘द खतरा शो’ में देखा गया था. भारती ने अपने बच्चे को जन्म देने के 11 दिनों के भीतर काम फिर से शुरू कर दिया. जहां कई लोगों ने उनके फैसले के लिए उनकी प्रशंसा की, वहीं कुछ ऐसे भी थे, जिन्होंने बच्चे को समय न देने और ‘पैसे के पीछे भागने’ के लिए उनकी आलोचना की थी.