जौनपुर में घरेलू गैस सिलेंडर में लगी भीषण आग, जिंदा जलकर मां-बेटे समेत 3 की मौत

यूपी के जौनपुर के केवटली गांव में गुरुवार को घरेलू गैस सिलेंडर के रिसाव से बड़ा हादसा हो गया. दूध गर्म करते समय गैस सिलेंडर में आग लगने से पति-पत्नी और उनके दो बच्चों समेत पांच लोग झुलस गए.

Massive fire in domestic gas cylinder in Jaunpur, 3 including mother and son burnt alive
Massive fire in domestic gas cylinder in Jaunpur, 3 including mother and son burnt alive
इस खबर को शेयर करें

जौनपुर. यूपी के जौनपुर के केवटली गांव में गुरुवार को घरेलू गैस सिलेंडर के रिसाव से बड़ा हादसा हो गया. दूध गर्म करते समय गैस सिलेंडर में आग लगने से पति-पत्नी और उनके दो बच्चों समेत पांच लोग झुलस गए. लोगों ने किसी तरह से आग पर काबू पाया. सूचना पर पहुंची पुलिस और स्थानीय लोगों की मदद से झुलसे हुए लोगों को अस्पताल पहुंचाया गया. जहां इलाज के दौरान तीन लोगों की मौत हो गई. इस दर्दनाक घटना से परिवार में कोहराम मच गया. गांव में तीन की मौत की सूचना पर शोक की लहर है.

घटना महाराजगंज के केवटली गांव की है. जानकारी के अनुसार केवटली निवासी अखिलेश विश्वकर्मा की पत्नी 28 वर्षीय नीलम अपने छप्पर वाले घर में दूध गर्म कर रही थीं. छप्पर में उसके दो बच्चे 5 वर्षीय शिवांश व 3 वर्षीय युवराज और पति अखिलेश (30) सो रहे थे. इसी दौरान घरेलू सिलेंडर की पाइप से गैस का रिसाव हो रहा था. इसकी भनक नीलम को नहीं हो पाई. उसने दूध गर्म करने के लिए जैसे ही गैस चूल्हे का रेग्यूलेटर चालू कर माचिस जलाई वैसे ही आग लग गई. आग ने फौरन विकराल रूप धारण कर लिया. आग पूरे छप्पर में लग गई. इसमें नीलम के अलावा परिवार के अन्य सभी सदस्य जलने लगे. चीख पुकार सुन आसपास के लोग एकत्र हो गए.

अखिलेश के बड़े भाई 32 वर्षीय सुरेश ने छप्पर में घुसकर लोगों बचाने का प्रयास किया. इससे वह भी झुलस गया. ग्रामीणों की मदद से किसी तरह सबको बाहर निकला गया. सूचना पर पहुंची पुलिस स्थानीय लोगों की मदद से स्थानीय सीएचसी ले गई. जहां प्राथमिक उपचार के बाद डाक्टरों ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया. परिवार को बचाने की कोशिश करने वाला सुरेश, अखिलेश की पत्नी नीलम और बेटे शिवांश की मौत हो गई. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. घटना के बाद पूरे गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है.