सुबह-सुबह: बड़ी खुशखबरी 40 रुपए सस्ता हुआ पेट्रोल-डीजल, खुशी से रो पड़े लोग

Petrol-Diesel Latest Price: पहले कोरोना महामारी और अब रूस-यूक्रेन युद्ध ने दुनियाभर में अर्थव्यवस्थाओं को हिलाकर रखा हुआ है. इसके चलते भारत समेत सभी जगह पेट्रोल-डीजल के दाम (Petrol-Diesel Price) आसमान छू रहे हैं. अब बढ़ती महंगाई के बीच लोगों को राहत देने वाली बड़ी खबर निकलकर सामने आ रही है.

Morning: Petrol-diesel became cheaper by Rs 40, great news, people cried with joy
Morning: Petrol-diesel became cheaper by Rs 40, great news, people cried with joy
इस खबर को शेयर करें

Petrol-Diesel Latest Price: पहले कोरोना महामारी और अब रूस-यूक्रेन युद्ध ने दुनियाभर में अर्थव्यवस्थाओं को हिलाकर रखा हुआ है. इसके चलते भारत समेत सभी जगह पेट्रोल-डीजल के दाम (Petrol-Diesel Price) आसमान छू रहे हैं. अब बढ़ती महंगाई के बीच लोगों को राहत देने वाली बड़ी खबर निकलकर सामने आ रही है. भारत के पड़ोसी देश श्रीलंका (Sri lanka) में पेट्रोल के दाम 40 रुपये घटा दिए गए हैं. सरकार की ओर से अचानक की गई इस घोषणा के बाद लोग खुशी से उछल पड़े हैं.

पेट्रोल के दाम में 40 रुपये की कमी

श्रीलंका (Sri lanka) के ऊर्जा मंत्री कंचन विजयशेखर ने शुक्रवार को कहा कि देश में पेट्रोल के दाम (Petrol Price) में 40 रुपये की कमी कर दी गई है. अब लोगों को पेट्रोल 410 रुपये प्रति लीटर के हिसाब से मिलेगा. इससे पहले यह 450 रुपये प्रति लीटर में बिक रहा था. श्रीलंका सरकार के इस फैसले के बाद वहां पर काम कर रही भारतीय कंपनी लंका इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन ने भी कहा है कि वह सरकारी मूल्य स्तर के अनुरूप पेट्रोल की कीमतों में कटौती करेगी.

पेट्रोल से ज्यादा हुए डीजल के दाम

सरकार के इस फैसले से आम लोगों ने तो महंगाई से राहत ली है लेकिन कारोबारियों के चेहरे अब भी लटके हुए हैं. असल में सरकार के ताजा फैसले के बाद श्रीलंका में पहली बार डीजल के दाम पेट्रोल से ज्यादा हो गए हैं. वहां पर डीजल 430 रुपये प्रति लीटर के दाम ( Diesel Latest Price) में बिक रहा है, जबकि पेट्रोल के दाम अब 410 रुपये प्रति लीटर हो गए हैं. डीजल के दाम कम न होने से कारोबारियों को ट्रांसपोर्टेशन और मशीनों को चलाना काफी महंगा पड़ रहा है. जिसके चलते वे पहले की तरह काम-धंधे शुरू करने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे हैं.

श्रीलंका में महंगाई रिकॉर्ड स्तर पर

बता दें कि कोरोना महामारी के बाद से श्रीलंका की अर्थव्यवस्था अब तक पटरी पर नहीं लौट पाई है. उसकी रही-सही नैया चीन समेत दूसरे देशों से लिए गए विदेशों कर्जों ने डुबो दी है. श्रीलंका में इन दिनों महंगाई अपने चरम पर है और मुद्रास्फीति की दर 69.8% पर पहुंच गई है. अपने सबसे खराब आर्थिक दौर से गुजर रहे श्रीलंका की संकट की घड़ी में उसके खास दोस्त चीन ने भी साथ छोड़ दिया है. हालांकि भारत ने सच्चे पड़ोसी की भूमिका निभाते हुए उसकी बढ़-चढ़कर मदद की है.