मुजफ्फरनगर : डीएम ने 31 एग्जाम सेंटर्स पर चलाई कैंची, 28 नए केंद्र बनाए

इस खबर को शेयर करें

मुजफ्फरनगरः उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में यूपी बोर्ड हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा के लिए बनाए गए परीक्षा केंद्रों में डीएम ने बड़ा फेरबदल किया है। शासन से केंद्रों की सूची में 28 नए विद्यालयों को सेंटर बनाया गया है, जबकि 31 परीक्षा केंद्रों पर कैंची चली है। अब 72 केंद्रों पर बोर्ड परीक्षा होगी। बोर्ड परीक्षा के लिए 58400 परीक्षार्थी पंजीकृत हैं। एक पखवाड़ा पहले माध्यमिक शिक्षा परिषद से बोर्ड परीक्षा के लिए जिले में 75 केंद्रों की सूची जारी की गई थी। इनमें 28 राजकीय विद्यालय थे।

20 नवंबर तक परीक्षा केंद्रों पर आपत्ति मांगी गई थी। डीआईओएस कार्यालय पर 80 आपत्तियां आई हैं। राजकीय विद्यालयों के प्रधानाचार्यों ने संसाधन न होने का हवाला देते केंद्र हटाने की मांग की थी। वहीं छोटूराम इंटर कालेज, इंटर कालेज भोकरहेड़ी, दीपचंद ग्रेन चेंबर इंटर कालेज समेत कई एडेड विद्यालयों के प्रधानाचार्यों ने केंद्र बनाने की मांग की थी। दो दिन पहले डीएम ने संशोधित परीक्षाकेंद्रों की सूची लौटा दी थी। इसे और दुरुस्त करने के निर्देश दिए थे। डीआईओएस धर्मेंद्र शर्मा ने शनिवार को परीक्षा केंद्रों की सूची डीएम अरविंद मल्लप्पा बंगारी के फिर से समक्ष रखी, जिसका अवलोकन करने के बाद डीएम ने स्वीकृति प्रदान की।

अब 75 के बजाए 72 परीक्षा केंद्रों पर बोर्ड परीक्षा होगी। पूर्व में जारी परीक्षा केंद्रों की सूची से 31 हटाए गए हैं, जबकि 28 नए कॉलेज शामिल किए गए हैं। इनमें चार राजकीय इंटर कॉलेज भी शामिल हैं। राजकीय इंटर कॉलेज मुजफ्फरनगर, राजकीय गर्ल्स इंटर कालेज भैंसी, राजकीय इंटर कालेज सिसौली और राजकीय इंटर कॉलेज गढ़ी शेखावत कों केंद्र बनाया गया है। जिला विद्यालय निरीक्षक डॉ. धर्मेंद्र कुमार शर्मा ने बताया कि परीक्षा केंद्रों पर आई सभी आपत्तियों का निस्तारण हो गया है। 72 केंद्रों पर हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा होगी। इन सभी केंद्रों पर अच्छी सुविधाएं हैं। 24 राजकीय विद्यालय परीक्षा की सूची से हटाए गए हैं। इस बार बोर्ड परीक्षा के लिए 58400 परीक्षार्थी पंजीकृत है। हाईस्कूल के 31399 छात्र-छात्राएं पंजीकृत हैं, जबकि इंटरमीडिएट में 27001 परीक्षार्थी पंजीकृत हैं। परीक्षा 22 फरवरी से परीक्षा शुरू और नौ मार्च को संपन्न होगी।