मुज़फ्फरनगर: हॉस्टल में हिंदू दोस्त से मिलने पहुंचे छात्र को किया बर्खास्त, स्कूल ने दी सफाई

इस खबर को शेयर करें

मुजफ्फरनगर: मुजफ्फरनगर में शिक्षा का मंदिर संचालित करने वाले के नजरिये पर धर्म का चश्मा एक बार फिर सुर्खियों में है। अब गांव फुलत में प्राइवेट स्कूल में मुस्लिम छात्र को बर्खास्त करने पर बखेड़ा हो गया। क्योंकि छात्र ने आरोप लगाया है कि हिंदू लड़कों से दोस्ती रखने के कारण उसे बर्खास्त किया गया है। हालांकि स्कूल प्रबंधन का कहना है कि छात्र बाहरी लड़कों को बुलाता था, इसलिए बर्खास्त किया गया है।

रतनपुरी के गांव सठेड़ी निवासी स्व. इस्लाम का पुत्र मनव्वर फुलत गांव में संचालित विजन इंटरनेशनल एकेडमी में कक्षा आठवीं का छात्र है। छात्र हास्टल में रहता है। विगत दिवस छात्र से मिलने के लिए उसका दोस्त संदीप हास्टल आया था। स्कूल गार्ड ने उसे प्रवेश देकर छात्र से मिलवा दिया। इसकी भनक लगने पर स्कूल प्रबंधन ने मामले की जांच कराई। जिसमें छात्र के साथ उसके दोस्त से पूछताछ की गई।

दोस्त का नाम संदीप सुनकर स्कूल प्रबंधन के तेवर बदल गए। सोमवार को इंटरनेट मीडिया पर प्रसारित वीडियो में छात्र ने आरोप लगाया है कि हास्टल में उसके दोस्त मिलकर हाल-चाल पूछने आए थे। उनसे लगभग 10 मिनट बात की थी। आरोप है कि स्कूल के वार्डन ने गैर मुस्लिमों से दोस्ती रखने, उन्हें स्कूल में बुलाने पर कड़ी फटकार लगाई। इतना ही नहीं, उसे स्कूल से बर्खास्त कर दिया। इससे आहत छात्र ने स्कूल पर दो समुदाय के बीच खाई पैदा करने के आरोप लगाए हैं।

वहीं, छात्र का कहना है कि उस पर 10 हजार रुपये की चोरी आरोप भी लगाया गया। थानाध्यक्ष अक्षय शर्मा का कहना है कि स्कूल से जुड़ा मामला है। पीड़ित छात्र शिकायत लेकर आएगा तो उसकी जांच कराई जाएगी। स्कूल प्रबंधन से वार्ता की जाएगी। छात्र के साथ ऐसा किया जाना गंभीर माना जाता है।

प्रधानाचार्य विजन इंटरनेशनल एकेडमी, फुलत अजीम दुर्रानी का कहना है कि छात्र ने बिना अनुमति कुछ लोगों को हास्टल बुलाया था। निरंतर चेतावनी के बावजूद छात्र के व्यवहार में सुधार नहीं आ रहा था। हास्टल मिलने पहुंचे व्यक्ति को छात्र ने अपना भाई बताया था, लेकिन जांच में उसका नाम संंदीप निकला। छात्र ने झूठ बोलकर बाहरी व्यक्ति को हास्टल में प्रवेश दिलाया।

इसी तरह उठा था थप्पड़ प्रकरण
मंसूरपुर थाना क्षेत्र के गांव खुब्बापुर में नेहा पब्लिक स्कूल में शिक्षिका तृप्ता त्यागी ने गत वर्ष अगस्त महीने में एक मुस्लिम छात्र को उसी की कक्षा में पढ़ने वाले बच्चों से थप्पड़ लगवाए थे। हिंदू छात्रों से थप्पड़ लगवाने का आरोप लगाते हुए पीड़ित छात्र के चाचा ने इंटरनेट मीडिया पर वीडियो प्रसारित किया था। यह मामला राष्ट्रीय स्तर पर गूंजा था और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के प्रपौत्र तुषार अरुण गांधी ने सुप्रीम कोर्ट में भी याचिका दायर की थी। मामले में शिक्षिका तृप्ता त्यागी के विरुद्ध पुलिस चार्जशीट लगा चुकी है।

प्रधानाचार्य, विजन इंटरनेशनल एकेडमी, फुलत अजीम दुर्रानी का कहना है कि छात्र ने बिना अनुमति के कुछ लोगों को हास्टल में बुलाया था। निरंतर चेतावनी के बाद भी सुधार नहीं किया। हास्टल में मिलने आए व्यक्ति को छात्र ने अपना भाई बताया था, लेकिन जांच में उसका नाम संदीप निकला है। छात्र ने बाहरी व्यक्ति को प्रवेश दिलाया। इसके चलते उसे तीन दिन पूर्व बर्खास्त कर दिया गया।