मुजफ्फरनगर: अभद्र टिप्पणी के आरोपी को छुड़ाने को लेकर हंगामा: पुरकाजी थाने पर देर रात तक चला हाई वोल्टेज ड्रामा

Muzaffarnagar: Uproar over the release of the accused of indecent remarks: High voltage drama continued till late night at Purkaji police station.
Muzaffarnagar: Uproar over the release of the accused of indecent remarks: High voltage drama continued till late night at Purkaji police station.
इस खबर को शेयर करें

मुजफ्फरनगर। मुजफ्फरनगर के पुरकाजी में अनर्गल टिप्पणी करने के आरोपी को हिरासत में लेने के विरोध में भारतीय किसान यूनियन तोमर ने हंगामा किया। भाकियू तोमर कार्यकर्ता आरोपी को छुड़ाने के लिए थाने पहुंच गए और धरना शुरू कर दिया। वहीं दूसरे पक्ष ने चेतावनी दी कि आरोपी को छोड़ा गया तो हंगामा होगा। पुरकाजी थाने पर हाई वोल्टेज ड्रामा देर रात तक चला।

गत 5 सितंबर को सोशल मीडिया पर वैश्य समाज के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर मनीष गोयल की ओर से पुरकाजी थाने पर कस्बे के मुहल्ला झोझगान निवासी परवेज के खिलाफ आईटी एक्ट समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया गया था। शुक्रवार शाम वैश्य समाज के काफी लोगों ने थाने पर पहुंचकर नामजद आरोपी परवेज की गिरफ्तारी न होने पर नाराजगी जाहिर की थी। मामले में पुलिस ने देर शाम आरोपी को हिरासत में लिया था।

हिरासत में लिए जाने के विरोध में शुक्रवार देर रात्रि भारतीय किसान यूनियन तोमर के ब्लाक अध्यक्ष अजय त्यागी के नेतृत्व में दर्जनों कार्यकर्ता पुरकाजी थाने पर पहुंचे। उन्होंने आरोपी परवेज को हिरासत में लिए जाने पर नाराजगी जताई। इसके बाद भारतीय किसान यूनियन तोमर गुट के कार्यकर्ता धरने पर बैठ गए। रात करीब 1:30 बजे तक पुरकाजी थाने के बाहर यह मामला चलता रहा।

बारिश होने पर चले गए कार्यकर्ता
बारिश शुरू हुई तो भारतीय किसान यूनियन तोमर गुट के कार्यकर्ता वहां से चले गए। भाकियू तोमर गुट का कहना था कि जिन धाराओं में परवेज को हिरासत में लिया गया है वह जमानतीय है। इसलिए परवेज को थाने से ही जमानत मिलनी चाहिए, जबकि वादी मुकदमा की ओर से वैश्य समाज के लोग इसका विरोध कर रहे थे। इस दौरान किसान यूनियन के धरने में मनीष गुज्जर, विशाल चौधरी, जावेद बाबर, माज, साजिद, शमशाद आदि मौजूद रहे।