मुजफ्फरनगर के लिए बड़ी खबर, पूरे 2 साल बाद…

Share this news

मुजफ्फरनगर। शहर के व्यस्ततम नावल्टी चौराहे पर वाहनों का आवागमन आखिरकार दो साल बाद खोल दिया गया। राज्यमंत्री कपिलदेव अग्रवाल के निर्देशों के बाद नावल्टी चौक की बेरिकेडिंग हटा ली गई। दो साल बाद चौराहे पर बहाल हुए आवागमन के बाद क्षेत्र के व्यापारियों ने राहत की सांस ली है।

शहर के रुड़की रोड स्थित नावल्टी चौक पर वाहनों के अत्यधिक दबाव और रोजाना लगने वाले भयंकर जाम के चलते प्रशासन ने करीब दो साल पूर्व यहां बेरिकेडिंग लगाकर चौराहा बंद कर दिया था। इसके चलते एक ओर जहां लोगों को आबकारी रोड से अंसारी रोड की तरफ आने-जाने के लिए जिला अस्पताल या फिर गुरुद्वारे वाली गली स्थित डिवाइडर के कट का सहारा लेना पड़ रहा था।

वहीं, दूसरी ओर इस क्षेत्र के व्यापार पर भी काफी फर्क पड़ रहा था, क्योंकि एक ओर से दूसरी ओर जाने के लिए उठाने वाली परेशानी के मद्देनजर ग्राहकों ने कहीं ओर का रुख कर लिया था। इससे बकरा मार्केट, आबकारी रोड, मोतीमहल, सर्राफा बाजार के साथ ही अंसारी रोड का व्यापार भी काफी हद तक प्रभावित हो गया था। नतीजतन, क्षेत्र के व्यापारियों के साथ ही आम जन भी नावल्टी चौक से बेरिकेडिंग हटाकर यहां वाहनों का आवागमन पूर्वरत करने की मांग करते आ रहे थे।
हालांकि, इसके बावजूद जाम की समस्या को देखते हुए प्रशासन चौराहा खोलने को तैयार नहीं था। अब त्योहारी सीजन के मद्देनजर एक बार फिर से व्यापारियों ने पालिका सभासद मनोज वर्मा के साथ ही विधायक व राज्यमंत्री कौशल विकास कपिलदेव अग्रवाल से नावल्टी चौक से बेरिकेडिंग हटाकर आवागमन पूर्ववत कराने की मांग की थी। इसे गंभीरता से लेते हुए राज्यमंत्री ने डीएम चंद्रभूषण सिंह को नावल्टी चौक से बेरिकेडिंग हटाकर यहां वाहनों का आवागमन बहाल करने के निर्देश दिए थे। इसके बाद आखिरकार दो साल बाद मंगलवार सुबह से चौराहे से बेरिकेडिंग हटाकर यहां वाहनों का आवागमन बहाल कर दिया गया, जिससे क्षेत्र के व्यापारियों के साथ ही आम लोगों ने भी राहत की सांस ली है।