मुजफ्फरनगर में रेलवे स्टेशन के बाहर दुकानों पर चलेगा बुलडोजर, धवस्त होंगी सभी दुकानें

मुजफ्फरनगर रेलवे स्टेशन के बाहर नगर पालिका की दुकानें हैं। इन दुकानों को लेकर केंद्रीय राज्य मंत्री डॉ संजीव बालियान ने चेयरपर्सन, पालिका के अधिकारियों और रेलवे के अधिकारियों को साथ लेकर निरीक्षण किया

Bulldozers will run at shops outside railway station in Muzaffarnagar, all shops will be destroyed
Bulldozers will run at shops outside railway station in Muzaffarnagar, all shops will be destroyed
इस खबर को शेयर करें

मुजफ्फरनगर। रेलवे स्टेशन के बाहर नगर पालिका की दुकानें हैं। इन दुकानों को लेकर केंद्रीय राज्य मंत्री डॉ संजीव बालियान ने चेयरपर्सन, पालिका के अधिकारियों और रेलवे के अधिकारियों को साथ लेकर निरीक्षण किया। दुकानदारों से बात करने के बाद दुकानों को ध्वस्त कराने का निर्णय लिया गया।

रेलवे स्टेशन पर पहुंचे डॉ संजीव बालियान, चेयरपर्सन अंजू अग्रवाल, ईओ हेमराज और रेलवे के अधिकारियों ने मुआयना किया। आधे से अधिक संख्या में दुकानें बंद है और जर्जर हालत में है। ये दुकानें कभी भी गिर सकती है और कोई बड़ा हादसा हो सकता है। दुकानदारों का पालिका का लीज का समय भी पूरा हो चुका है। बालियान ने मौके पर दुकानदारों को बुलाकर उनसे बात की। दुकानदार दिनेश, रवि, घनश्याम, दिलीप कुमार ने कहा कि उन्हें आस-पास में ही दुकान बनाकर दे दी जाए तो कोई आपत्ति नहीं है।

ईओ को इन दुकानों के ध्वस्तीकरण और दुकानदारों को नई दुकान बनाकर देने का प्रस्ताव बनाने के लिए कहा गया। 20 मई को पालिका बोर्ड की बैठक बुलाने का निर्णय लिया गया। ईओ को प्रस्ताव जारी करने के निर्देश दिए। इस दौरान रेलवे नॉदर्न बोर्ड के सदस्य सुनील सिंघल, प्रदीप शर्मा, सभासद विपुल भटनागर, कमलकांत कश्यप, घनश्याम भगत मौजूद रहे।

निर्माण कार्य भी देखे
केंद्रीय राज्यमंत्री डॉ. संजीव बालियान ने रेलवे स्टेशन पर चल रहे निर्माण कार्यों को भी देखा। उन्होंने रेलवे के अधिकारियों को कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए। मुख्य द्वार पर पेंटिंग तैयार कराने के लिए कहा गया। उन्होंने रेलवे स्टेशन पर चल रही शहीद भगत सिंह सेवा एकता मंच की जल सेवा की सराहना की।

स्टेशन की सुंदरता बढ़ जाएगी
केंद्रीय राज्य मंत्री डॉ संजीव बालियान का कहना है कि रेलवे स्टेशन के बाहर की बिल्डिंग जर्जर है। कभी भी हादसा हो सकता है। इसी वजह से इसका ध्वस्तीकरण किया जाएगा।