मुजफ्फरनगर में डेंगू ने मचाया कहर, होमगार्ड की मौत, अस्पतालों में मरीजों की भीड

Share this news

मुजफ्फरनगर। डेंगू का डंक और अधिक खतरनाक हो रहा है। मुजफ्फरनगर पिछले तीन दिन में डेंगू के 18 मामलों की पुष्टि हुई है। रोगियों का उपचार चल रहा है। उधर, खतौली क्षेत्र के गांव सिखेड़ा में एक होमगार्ड की डेंगू से मौत हो गई।

सिखेड़ा निवासी जुगनू शर्मा ने बताया कि उसके ताऊ का लड़का राजकुमार शर्मा होमगार्ड था। कई दिन पहले बुखार आया था। जांच कराई तो डेंगू की पुष्टि हुई थी। उसकी तबीयत बिगड़ने पर 108 एंबुलेंस को फोन किया। एंबुलेंस चालक ने बताया कि वह जाम में फंसा है, जिस कारण राजकुमार को निजी कार द्वारा खतौली निजी चिकित्सक के यहां भर्ती कराया।

स्थिति सामान्य न होते देख उसे मेरठ के लिए रेफर कर दिया गया। परिजन उसे लेकर मेरठ में निजी चिकित्सक के यहां गए, लेकिन वहां पर चिकित्सक नही मिला। फिर दूसरे और तीसरे अस्पताल में भी पहुंचे लेकिन रात के समय उन्हें कोई चिकित्सक न मिलने के कारण सही उपचार के अभाव में होमगार्ड राजकुमार ने दम तोड़ दिया। मौत की सूचना पर पूरे परिवार में कोहराम मच गया।

उधर गांव में भी शोक व्याप्त हो गया। रविवार दोपहर मृतक के शव को गांव लाया गया। जहां पर गमगीन माहौल में उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया। सीएमओ डॉ. एमएस फौजदार का कहना है कि होमगार्ड की मौत की जानकारी नहीं मिली है। स्वास्थ्य विभाग की टीम भेजकर जांच कराई जाएगी।

सिखेड़ा में बुखार का प्रकोप
ग्रामीण जुगनू ने बताया कि गांव में अन्य कई मरीज डेंगू जैसे बुखार की चपेट में है। घर-घर बुखार के मरीज है। स्वास्थ्य विभाग ने यहां पर कोई कैंप नहीं लगवाया है।

तीन दिन में इस तरह मिले डेंगू के मरीज
तिथि            जांच         मरीज
19  नवंबर        37        09
20 नवंबर        51        06
21 नवंबर        23        03