मुजफ्फरनगर में पकडी गई अंग्रेजी शराब की नकली फैक्ट्री, लगा रहे थे लाखों का चूना

मुजफ्फरनगर की थाना सिविल लाइन पुलिस ने एक पुराने खंडहर में नकली अंग्रेजी शराब नाने की फैक्ट्री पकड़ी है। पुलिस ने मौके से लाखों रुपये की नकली अंग्रेजी शराब तथा भारी मात्रा में विभिन्न ब्रांड के हजारों खाली रैपर तथा अन्य सामान बरामद किया।

Fake factory of English liquor caught in Muzaffarnagar, was applying lime of lakhs
Fake factory of English liquor caught in Muzaffarnagar, was applying lime of lakhs
इस खबर को शेयर करें

मुजफ्फरनगर। मुजफ्फरनगर की थाना सिविल लाइन पुलिस ने एक पुराने खंडहर में नकली अंग्रेजी शराब नाने की फैक्ट्री पकड़ी है। पुलिस ने मौके से लाखों रुपये की नकली अंग्रेजी शराब तथा भारी मात्रा में विभिन्न ब्रांड के हजारों खाली रैपर तथा अन्य सामान बरामद किया। मौके से पुलिस ने ऑन डिमांड शराब तैयार कर तस्करी करने वाले अंतर्राज्यीय 5 तस्कर गिरफ्तार किए गए हैं।

शराब तस्कर लगा रहे थे करोड़ों के राजस्व का चूना

रिजर्व पुलिस लाइन में एसपी सिटी अर्पित विजयवर्गीय ने बताया कि थाना सिविल लाइन एवं एसओजी पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए क्षेत्र के एमडीए कार्यालय के पीछे कादिर राणा के बाग के सामने एक पुराने खंडहर में छापेमारी की। उन्होंने बताया कि छापेमारी के दौरान बंद पुरानी बिल्डिंग में अवैध नकली अंग्रेजी शराब की फैक्ट्री संचालित होते पाई गई। शराब तैयार कर सरकार को कोरोना के राजस्व का चूना लगाया जा रहा था।

5 अंतर्राज्यीय शराब तस्कर मौके से किए गिरफ्तार

एसपी सिटी अर्पित विजयवर्गीय ने बताया कि पुलिस की छापेमारी के दौरान अवैध शराब निर्माण एवं तसकरी में जुटे 5 तस्करों को गिरफ्तार किया गया। उन्होंने बताया कि पांचो बदमाशों की पहचान राजीव गोयल, उज्जवल शर्मा, तरुण कुमार, विक्रांत दुग्गल और मनमोहन सिंह पुत्र कदम सिंह के रूप में हुई।

18 पेटी शराब बरामद

एसपी सिटी ने बताया कि मौके पर बड़े पैमाने पर नकली अंग्रेजी शराब बनते पाई गई। उन्होंने बताया कि मौके से 18 लीटर अंग्रेजी नकली शराब, 200 लीटर अपमिश्रिति शराब, 4 हजार प्लास्टिक के खाली पव्वे, 49 हजार ढक्कर, 17 हजार होलोग्राम, 6050 रैपर तथा 200 लीटर ईएनए और पांच किलो यूरिया के अलावा शराब बनाने के उपकरण भारी मात्रा में बरामद हुए।

ऑन डिमांड अंग्रेजी शराब करते थे सप्लाई

एसपी सिटी ने बताया कि बदमाशों से पूछताछ में सामने आया है कि आन डिमांड शराब का निर्माण कर सप्लाई की जाती थी। बताया कि जिस भी राज्य के शहर से डिमांड आती थी वहीं पर जाकर किसी सुनसान क्षेत्र के खंडहर में शराब का निर्माण कर सप्लाई की जाती थी। बताया कि मुजफ्फरनगर में कुछ दिनों से ही आकर शराब निर्माण कर सप्लाई करना शुरू किया था। थाना सिविल लाइन प्रभारी निरीक्षक संतोष त्यागी, एसएसआइ राकेश शर्मा, एसआइ सुनील शर्मा, सतपाल सिंह आदि शामिल रहे।