डिलीवरी के दौरान नवजात का सिर धड़ से अलग, अस्पताल ने कपड़े में लपेटकर सौंपा शव

मध्यप्रदेश के सतना में एक महिला को प्रसव के बाद मृत बच्चे का सौंपा गया. नवजात के शव में सिर धड़ से अलग था. जब परिजनों को इसका पता चला तो परिजन चौक गए.

Newborn's head separated from torso during delivery, hospital handed over dead body wrapped in cloth
Newborn's head separated from torso during delivery, hospital handed over dead body wrapped in cloth
इस खबर को शेयर करें

सतना. सतना जिला अस्पताल से एक दिल दहलाने वाला मामला सामने आया है. महिला को डिलीवरी के बाद मृत बच्चा सौंपा गया. नवजात का सिर धड़ से अलग था. महिला का ऑपरेशन महिला चिकित्सक डॉ नीलम सिंह ने किया था. जाहिर है डिलीवरी के दौरान लापरवाही की गयी है.

मैहर के डेल्हा गांव की रहने वाली किरण चौधरी को प्रसव पीड़ा होने पर सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया था. लेकिन हालत गंभीर होने के कारण उन्हें जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया. यहां ऑपरेशन से महिला की डिलीवरी की गई. जिला अस्पताल में ड्यूटी पर तैनात महिला चिकित्सक डॉ नीलम सिंह ने डिलीवरी करायी. डॉक्टर ने ऑपरेशन किया. बाद में परिवारवालों को बताया गया कि बच्चे की मौत हो गयी है. इसके करीब ढाई घंटे बाद अस्पताल प्रशासन ने कपड़े में लपेटकर नवजात का शव परिवारवालों को सौंप दिया. नवजात का शव देखकर परिवार वालों के पैरों तले जमीन खिसक गयी. बच्चे का सिर धड़ से अलग था. परिवार वाले उसे देखकर बिलख उठे. अस्पताल वाले कोई जवाब देने के लिए तैयार नहीं.

नवजात का शव कपड़े में लपेटकर सौंपा
बताया जा रहा है कि बच्चे का शव सौंपते समय अस्पताल प्रशासन ने सिर्फ बच्चे के पैर ही दिखाए थे. स्वास्थ्य अमले ने गुपचुप तरीके से नवजात बच्चे के शव को कपड़े में बांध कर परिजनों को सौंपा था. जैसे ही परिजनों ने बच्चे का शव देखा तो चौक पड़े. क्योंकि नवजात का सिर धड़ से अलग था. अशिक्षित परिजन भी नहीं समझ पाए कि बच्चे की मौत कैसे हुई है. हालांकि अब इस मामले का खुलासा हो गया है.

अस्पताल प्रशासन गोलमोल जवाब दे रहा
इस मामले पर अस्पताल प्रशासन गोलमोल जवाब दे रहा है. जिला स्वास्थ्य अधिकारी का कहना है कि पूरे मामले की जांच जारी है. ऑपरेशन से जुड़े लोगों के बयान लिए जा रहे हैं. जांच के बाद ही स्पष्ट हो पाएगा की नवजात की मौत कब और कैसे हुई.