अब पेट्रोल-डीजल का खेल होगा खत्म, सिर्फ 59 रुपए प्रति लीटर चलेगी कार

इस खबर को शेयर करें

नई दिल्ली : Petrol-Diesel Prices: आसमान छूती महंगाई ने लोगों ने कमर तोड़कर रख दी है. ऐसे में पेट्रोल-डीजल के रेट लंबे समय से 100 के आस-पास बने हैं. जिससे लोगों का बजट बिगड़ा हुआ है. लेकिन परेशान होने की जरूरत नहीं है. नई सरकार का गठन हो गया है. ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है कि बहुत जल्द पेट्रोल- डीजल का खेल खत्म होने वाला है. मार्केट में कुछ ही दिनों बाद फ्यूल फ्लेक्स ईंधन की कारें आने वाली है. जिसके बाद आपको कार के चलाने खर्च लगभग 50 से 60 रुपए प्रति लीटर के बराबर ही आएगा. केन्द्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री इसकी चर्चा कई बार कर चुके हैं. बताया जा रहा है कि इस साल के अंत तक मार्केट में फ्यूल फ्लेक्स से चलने वाली कारें पहुंच जाएंगी. जिसके बाद आम आदमी का खर्च घटकर आधा होने की पूरी उम्मीद है…

क्या है flex-fuel?
एक्सपर्ट संदीन नेगी बताते हैं कि “फ्लेक्स-फ्यूल के जरिए आप अपनी कार को एथनॉल के साथ मिश्रित ईंधन पर चला सकते हैं. आपको बता दें फ्लेक्स-फ्यूल गैसोलीन और मेथनॉल या एथनॉल के संयोजन से बना एक वैकल्पिक ईंधन है. एक फ्लेक्स-इंजन मूल रूप से एक मानक पेट्रोल इंजन है, जिसमें कुछ अतिरिक्त घटक होते हैं जो एक से अधिक ईंधन या मिश्रण पर चलते हैं,,. इसलिए बताया जा रहा है कि फ्लेक्स इंजन इलेक्ट्रिक की तुलना में बहुत ही सस्ता और अच्छा माना जाएगा. क्योंकि इसे चार्जिंग की टेंशन भी पूरी तरह खत्म हो जाएगी. बताया जा रहा है कि कुछ दिनों बाद सभी पेट्रोल पंप पर ये फ्यूल मिलना शुरू हो जाएगा. साथ ही पेट्रोल कारें इसमें कंन्वर्ट भी हो सकेंगी.

अगले तीन माह अहम
आपको बता दें कि सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) इसकी पहली सरकार के दौरान भी चर्चा कर चुके हैं. एक अनुमान के मुताबिक बताया जा रहा है कि अगले तीन माह में फ्यूल फ्लेक्स ईंधन को लागू करने की चर्चा है. हालांकि आधिकारिक रूप से अभी कुछ भी नहीं कहा गया है. आपको बता दें कि इस बार भी सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी को ही बनाया गया है. इससे दावा और प्रबल हो जाता है. सके अलावा सभी ऑटो कंपनियों को आदेश दिए जाएंगे कि वह फ्लेक्स फ्यूल इंजन को अपने वाहनों में फिट करें. ताकि लोगों को पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से निजात दिलाई जा सके.