अरे! सूरज उगने से पहले ही चला बाबा का बुलडोजर, मुख्तार अंसारी के खास का दफ्तर तोड़ दिया

Oho! Baba's bulldozer started even before sunrise, destroyed Mukhtar Ansari's special office
Oho! Baba's bulldozer started even before sunrise, destroyed Mukhtar Ansari's special office
इस खबर को शेयर करें

गाजीपुर: योगी सरकार (Yogi Government) का बुलडोजर अंतरप्रांतीय गैंग संख्या 191 के माफिया सरगना मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) ऐंड कंपनी पर लगातार गरज रहा है। अंसारी के प्रमुख सहयोगी रेयाज अंसारी (वर्तमान नगर पंचायत अध्यक्ष) पर रविवार सुबह पुलिस ने ऐक्शन लिया है। रेयाज पर आरोप है कि वह अपने पद का दुरुपयोग करते हुए अपनी पत्नी निकहत परवीन की जमीन पर बिना, निर्माण मानचित्र पास कराए अवैध निर्माण कराया था। जिसको पुलिस और राजस्व की संयुक्त टीम ने सूरज उगने से पहले सुबह 5 बजे ही बुलडोजर से गिरवा दिया।

योगी सरकार में अवैध तरीके से धन, भू-सम्पत्ति और अचल सम्पत्ति अर्जित करने वाले माफियाओ के खिलाफ विशेष अभियान चलाए जा रहे। इसी के तहत अंतरप्रान्तीय गैंग नंबर 191 माफिया मुख्तार अंसारी का प्रमुख सहयोगी और वर्तमान नगर पंचायत अध्यक्ष रेयाज अहमद अंसारी पर भी ऐक्शन हुआ।

रेयाज अपनी पत्नी निकहत परवीन की जमीन पर बिना भवन निर्माण मानचित्र (बिना नक्शा पास कराए) स्वीकृत कराये अवैध तरीके से अपने बाहुबल के दम पर भवन निर्माण कराया था।यह भवन बहादुरगंज स्थित मौजा अब्दुलपुर में है। रेयाज इसी भवन से अपने कैम्प कार्यालय का संचालन भी करता था।

रविवार को अधिशासी अधिकारी नगर पंचायत, बहादुरगंज की रिपोर्ट पर उपजिलाधिकारी कासिमाबाद और अन्य अधिकारी जनों की मौजूदगी में रेयाज के अवैध निर्माण को गिरा दिया गया। रेयाज फिलहाल फरार है। उस पर पुलिस ने 25 हजार का इनाम भी घोषित किया है। पुलिस पहले ही निकहत को गिरफ्तार कर चुकी है।

रेयाज पर यह भी आरोप है कि उसने अन्यों के साथ मिलकर अपनी पत्नी और पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष, बहादुरगंज निकहत परवीन को फर्जी अंकपत्र के आधार पर मदरसे में जूनियर टीचर की नौकरी दिलाई थी। विभागीय जांच में निकहत परवीन को लेकर मिली शिकायत सही पाए जाने के बाद निखत पर एफआईआर दर्ज हुआ था।