चौथे फ्लोर पर ‘पलंग छोड़ सइयां’, फ्लैट में ऐसा सीन दिखा कि हिल गए लोग

'Palang Chhod Saiyan' on the fourth floor, such a scene was seen in the flat that people were shaken.
'Palang Chhod Saiyan' on the fourth floor, such a scene was seen in the flat that people were shaken.
इस खबर को शेयर करें

भागलपुर: बिहार में गजब का मामला सामने आया। यहां पुलिस को ‘पलंग छोड़ सइयां’ मिले। पुलिस को भी उम्मीद नहीं थी कि महाशय कुछ इस हाल में मिलेंगे। इसके बाद उस शख्स को हिरासत में लेकर थाने लाया गया। लेकिन पूरे भागलपुर में अब ‘पलंग छोड़ सइयां’ की चर्चा हो रही है। पूरा मामला जानेंगे तो आप भी चौंक जाएंगे। दरअसल ये सबकुछ बिहार में भागलपुर जिले के बबरगंज थाना इलाके में हुआ है। यहां एक शख्स को पुलिस ने ऐसी हालत में पकड़ा जिसके बारे में आप सोच भी नहीं सकते हैं। उसके खिलाफ शिकायत भी उसकी बीवी ने ही दर्ज करा थई।

भागलपुर में मिले ‘पलंग छोड़ सइयां’
मामला तीन बच्चों के पिता से जुड़ा है। आरोपी शख्स संजय बिन ने अपनी पहली पत्नी को दहेज के लिए प्रताड़ित किया। आरोप तो यहां तक है कि उसने पहली बीवी की हत्या करने के लिए जहर तक दे दिया। लेकिन वो किसी तरह बच गई। इसके बाद पति ने उसे छोड़ दिया। लेकिन यहीं मामले में ट्विस्ट है। दरअसल तीन बच्चों के बाप संजय बिन को फिर से प्यार हो गया था। इसके बाद वो पहली पत्नी को छोड़ गायब हो गया।

2008 में हुई थी शादी
वर्ष 2008 में सिमरिया निवासी माला देवी की शादी पूरे हिंदू रीति रिवाज के साथ सुल्तानगंज इलाके के रहने वाले संजय बिन से हुई थी। शादी के 8 साल के बाद पति संजय पत्नी माला को दहेज के लिए प्रताड़ित करने लगा और मारपीट करने लगा। इसी दौरान साल 2019 में संजय बिन ने अपनी पहली पत्नी माला देवी को जहर देकर मारने की कोशिश भी की। इसके बाद पीड़िता माला देवी अपने मायके चली गई। इधर,संजय बिन ने चुपके से किसी दूसरे लड़की के साथ कथित शादी कर ली। वो भी फिलहाल गर्भवती है। संजय बिन के पहली पत्नी से तीन बच्चे हैं, जिसमें दो लड़की और एक लड़का है। जिसे ननिहाल के परिजनों द्वारा भरण पोषण के साथ पढ़ाया-लिखाया जा रहा है। मामला तब सामने आया जब पहली पत्नी की मां मंगलवार को अलीगंज स्थित एक निजी क्लीनिक में इलाज करने के लिए पहुंची थी।

सास ने ढूंढ लिया दामाद धोखेबाज को
सास की नजर इसी दौरान दामाद पर पड़ गई जो काफी दिनों से सबकी नजरों से गायब था। इसके बाद सास ने उसका पीछा किया। आरोपी संजय इस दौरान एक अपार्टमेंट में गया और वहां जाकर फ्लैट के दरवाजे को लॉक कर लिया। अब सास ने इसकी जानकरी अपनी बेटी को दी। बेटी माला बाकी घरवालों के साथ उस अपार्टमेंट में पहुंची। सभी ने फ्लैट का दरवाजा बारी-बारी से खटखटाया और संजय को निकलने के लिए कहा। लेकिन वो फ्लैट से नहीं निकला। इसके बाद डायल 112 पर खबर कर पुलिस को जानकारी दी गई। पुलिस भी मौके पर पहुंच गई।

पलंग के नीचे मिला धोखेबाज सइयां
इसके बाद पुलिस ने अपार्टमेंट की तलाशी ने शुरू की। लेकिन पति कहीं नहीं मिल रहा था। उसे तलाशते हुए पुलिस चौथे फ्लोर के एक फ्लैट में घुसी तो वहां पर उसकी दूसरी पत्नी मिली। इसके बाद पुलिस ने कमरों को छानना शुरू किया। पहले तो आरोपी संजय कहीं नहीं दिख रहा था, लेकिन अचानक जब पुलिस की नजर पलंग पर पड़ी तो उसके नीचे झांका गया। आरोपी पति संजय पलंग के नीचे ही छिपा हुआ था। फिर पुलिस ने उसे पकड़ लिया और अपने साथ ले आई।

पहली पत्नी ने लगाए कई आरोप
पीड़ित पहली पत्नी माला देवी ने बताया कि दहेज को लेकर उसका पति हमेशा उसे प्रताड़ित करता था। उसकी शादी हिंदू रीति रिवाज के साथ वर्ष 2008 में हुई थी। शादी के बाद तीन बच्चे भी हुए। लगातार उसका पति संजय दहेज के रूप में पैसे की डिमांड करने लगा। उनका परिवार पैसा देने में असमर्थ था। दहेज का विरोध करने पर मारपीट की जाती थी। माला ने आरोप लगाया कि 5 साल पहले जहर खिला कर उसे मारने की कोशिश की गई थी। इसके बाद आरोपी पति के खिलाफ न्यायालय में मुकदमा दर्ज करवाया गया। न्यायालय की ओर से गिरफ्तारी वारंट जारी हुआ। इसी के बाद संजय छिप कर रह रहा था।