खुशखबरी: 20 रुपये सस्ता होगा पेट्रोल-डीजल! बजट से पहले वित्तमंत्री ने दे दिया संकेत

Good news: Petrol and diesel will be cheaper by 20 rupees! Finance Minister gave a hint before the budget
Good news: Petrol and diesel will be cheaper by 20 rupees! Finance Minister gave a hint before the budget
इस खबर को शेयर करें

आने वाले दिनों में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में गिरावट देखने को मिल सकती है। सरकार पेट्रोल-डीजल को GST के दायरे में लाने पर विचार कर रही है। अगर ऐसा होता है तो पेट्रोल और डीजल की कीमत में 20 रुपए लीटर तक की कमी देखने को मिल सकती है। यानी दिल्ली के हिसाब से इनकी कीमत 75 रुपए लीटर पर आ जाएगी।

कल यानी 22 जून को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने GST काउंसिल की मीटिंग की। इसमें वित्त मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार पेट्रोल और डीजल को GST के दायरे में लाने के लिए तैयार है। अब राज्यों को इस बारे में फैसला लेना है। राज्यों को साथ आकर इसकी दरें तय करनी हैं।

अभी 1 लीटर पेट्रोल पर 35.29 रुपए तक कमा रही सरकारें
अभी जब आप दिल्ली में 94.72 रुपए का एक लीटर पेट्रोल डलवाते हैं तो इसमें से 35.29 रुपए टैक्स के रूप में केंद्र और राज्य सरकार की जेब में जाता है। यानी आपको 59.43 रुपए का ही पेट्रोल मिला। इससे आम लोगों की जेब खाली होती है, वहीं, सरकार का खजाना तेजी से भरता है।

अभी कैसे तय हो रही हैं पेट्रोल-डीजल की कीमतें?
अभी हर राज्य अपने हिसाब से पेट्रोल और डीजल पर टैक्स लगाता है। केंद्र भी अपनी ड्यूटी और सेस अलग से वसूल करता है। पेट्रोल-डीजल का बेस प्राइस अभी 55.46 रुपए है। इस पर केंद्र सरकार 19.90 रुपए एक्साइज ड्यूटी ले रही है। इसके बाद राज्य सरकारें अपने हिसाब से वैट और सेस वसूलती हैं। इससे इनकी कीमत बेस प्राइस से करीब 2 गुना तक बढ़ जाती हैं।

दिल्ली में एक लीटर पेट्रोल-डीजल की कीमत से समझिए…

पेट्रोल-डीजल को GST के 28% स्लैब में रखा जाए तो…

बेस प्राइस + भाड़ा: ₹55.66 GST के 28% टैक्स को शामिल करें तो बनता है: ₹15.58
औसत डीलर कमीशन: ₹3.77
इसके अनुसार ग्राहकों को ₹75.01 एक लीटर पेट्रोल मिलेगा

GST के दायरे में लाने पर 75 रुपए लीटर में मिल सकता है पेट्रोल
अगर सरकार पेट्रोल-डीजल GST के दायरे में लाती है, तो इनकी कीमतों में 20 रुपए लीटर तक की कमी देखने को मिल सकती है। इसके अलावा पूरे देश में पेट्रोल-डीजल के दाम लगभग एक जैसे हो जाएंगे। जैसे भी दिल्ली में पेट्रोल 94.72 रुपए लीटर और डीजल 87.62 रुपए लीटर है। वहीं मध्यप्रदेश के भोपाल में पेट्रोल 106.47 रुपए लीटर और डीजल 91.84 रुपए लीटर है।

पेट्रोल-डीजल GST के दायरे में आने के बाद ऐसा नहीं रहेगा। सभी जगह लगभग एक जैसे दाम रहेंगे। हालांकि इससे सरकार की टैक्स से होने वाली कमाई घट सकती है। अभी GST में टैक्स की सबसे ऊंची दर 28% की है। अगर सरकार पेट्रोल-डीजल पर 28% GST भी लगाते हैं तो भी इससे आम लोगों को बहुत राहत मिलेगी होगा।

महाराष्ट्र में सबसे महंगा है पेट्रोल-डीजल
भारत में सबसे महंगा पेट्रोल-डीजल महाराष्ट्र के परभणी में है। यहां पेट्रोल 107.33 रुपए प्रति लीटर और डीजल 93.74 रुपए प्रति लीटर बिक रहा है। वहीं राजस्थान के श्रीगंगानगर में एक लीटर पेट्रोल की कीमत 106.26 रुपए प्रति लीटर और डीजल की कीमत 91.60 रुपए प्रति लीटर पर पहुंच गई है। वहीं पोर्ट ब्लेयर में सबसे सस्ता पेट्रोल-डीजल बिक रहा है। यहां पेट्रोल की कीमत 82.42 रुपए प्रति लीटर और डीजल का भाव 78.01 रुपए प्रति लीटर है।

आप तक कैसे पहुंचता है पेट्रोल-डीजल?

भारत अपनी जरूरत का 85% से ज्यादा कच्चा तेल इम्पोर्ट करता है। यानी, दूसरे देश से खरीदता है।
विदेशों से आने वाला कच्चा तेल रिफाइनरी में जाता है, जहां से पेट्रोल, डीजल और दूसरे पेट्रोलियम प्रोडक्ट निकाले जाते हैं।
इसके बाद ये तेल कंपनियों के पास जाता है। जैसे- इंडियन ऑयल, हिंदुस्तान पेट्रोलियम।
यहां से ये अपना मुनाफा और केंद्र व राज्य सरकारों की ओर से लगने वाला टैक्स जोड़कर पेट्रोल पंप तक पहुंचाती हैं।
पेट्रोल पंप पर आने के बाद पेट्रोल पंप का मालिक अपना कमीशन जोड़कर उस कीमत में आपको दे देता है।