हिमाचल प्रदेश की चुनावी रैली में प्रियंका ने दी पीएम को चुनौती

इस खबर को शेयर करें

सुंदरनगर. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने बुधवार को हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले के सुंदर नगर में एक चुनावी रैली में पार्टी का प्रचार किया। अपने भाषण में उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी और केंद्र की भाजपा सरकार पर जमकर जुबानी तीर चलाए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री महंगाई, बेरोजगारी जैसे जरूरी मुद्दों पर बात ना करते हुए धर्म के आधार पर वोट मांग रहे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा किसी ना किसी तरीके से सत्ता में रहना चाहती है। पीएम को चुनौती देते हुए प्रियंका ने कहा कि प्रधानमंत्री जी आप हिम्मत करके एक चुनाव देश के मुद्दों पर लड़कर दिखा दीजिए।

‘पीएम पद के प्रति हमारी भी श्रद्धा’

पीएम मोदी की भाषा पर सवाल उठाते हुए प्रियंका ने कहा, ‘आप भाजपा की विचारधारा देखिए, भाजपा के नेताओं को देखिए, किस तरह की बातें कर रहे हैं। जब चुनाव प्रचार के लिए आते हैं, मंच पर खड़े होकर बड़े से बड़े नेता, हमारे प्रधानमंत्री जी भी कैसी बातें कर रहे हैं। जिनके पद के प्रति तो सबकी श्रद्धा है, चाहे उनके प्रति हो या ना हो, लेकिन पद के प्रति तो है, क्योंकि सबसे बड़ा पद है हमारे देश में। लोकतंत्र है, आपने चुना है, हमारी श्रद्धा भी है। लेकिन हम देखते हैं, कि हमारे प्रधानमंत्री चुनाव के समय आकर ना आपकी आपदा की बात करते हैं, ना बेरोजगारी की, ना महंगाई की, ना आपकी समस्याओं की, ना आपकी पेंशन की, इनकी बातें नहीं होती हैं, सिर्फ धर्म के आधार पर आपसे वोट मांगा जाता है और जो बातें होती हैं वो पूरी तरह से फिजूल की होती हैं। कभी कहते हैं कि आपकी अगर दो भैंसे हैं तो कांग्रेस पार्टी आपकी एक भैंस चुरा लेगी, कभी कहेंगे कि आपके मंगलसूत्र को घरों से निकालने के लिए कांग्रेस पार्टी एक एक्स-रे मशीन लाई है। कैसी बातें हैं ये और कैसी ये राजनीति है?’

‘सरकार ने डिसएबिलिटी पेंशन में भी कटौती की’

कांग्रेस महासचिव ने कहा, ‘जब हमने पुरानी पेंशन की बात की तो केंद्र सरकार ने कहा- पैसे नहीं है, लेकिन सुक्खू जी ने प्रदेश में पुरानी पेंशन योजना शुरू कर रखी है। देश का नौजवान बेरोजगार हैं, लेकिन मोदी सरकार अग्निवीर जैसी योजना ले आई। हमने वन रैंक, वन पेंशन की बात की तो इन्होंने OROP को भी बदल डाला। मोदी सरकार ने आज डिसएबिलिटी पेंशन में भी कटौती कर दी है। तो सवाल यह है कि नरेंद्र मोदी जी किसके लिए काम कर रहे हैं, सिर्फ अडानी अंबानी के लिए?’

प्रियंका बोलीं- हिम्मत है तो दिखाइए

देश में बढ़ती महंगाई के पीछे सरकार की गलत नीतियों को वजह बताते हुए प्रियंका ने प्रधानमंत्री से जनता के मुद्दों पर चुनाव लड़ने की चुनौती दी। उन्होंने कहा, ‘बहनों और भाइयों देश में आज जितनी महंगाई है, बेरोजगारी है, उसकी वजह है, क्योंकि गलत नीतियां चल रही हैं देश में। ऐसी राजनीति हावी हो गई है पूरे देश में जिसके नेता समझ रहे हैं कि धर्म के आधार पर आपसे वोट ले लेंगे हर 5 साल में, हिंदू-मुस्लिम, हिंदू-मुस्लिम करके हर चुनाव में जीत हासिल कर लेंगे, सत्ता ले लेंगे और उसके बाद काम करने की कोई जरूरत नहीं है। यही उनकी विचारधारा है, इसलिए हर चुनाव में सिर्फ यही बात उठती है। मैं कहती हूं मोदीजी 10 सालों के लिए हमारे प्रधानमंत्री रहे हैं आप हिम्मत करिए, आकर बताइए जनता को कि क्या-क्या किया है आपने जनता के लिए। एक चुनाव लड़ लीजिए जनता के मुद्दों पर। हिम्मत है तो दिखाइए।’

प्रियंका ने कहा, ‘देश की सारी संपत्ति खरबपति मित्रों को सौंपी जा रही हैं। इस कदम से देश को नुकसान हुआ, क्योंकि इन्हीं संस्थानों से जनता को रोजगार मिलता था। आज हिमाचल में कोल्ड स्टोरेज अडानी को सौंप दिए गए। किसान का सेब कितने दाम पर बिकेगा, ये आज अडानी तय कर रहा है। विदेशी सेब पर टैक्स कम कर दिया गया और हमारा किसान आज खेती की हर चीज पर GST भरकर टैक्स की मार खा रहा है।’

विक्रमादित्य सिंह के लिए किया प्रचार

प्रियंका ने कहा कि अगर INDIA गठबंधन सत्ता में आता है, तो राज्य की गरीब महिलाओं को हर महीने 10,000 रुपए मिलेंगे। क्योंकि लोकसभा चुनावों के लिए कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में 8,500 रुपए देने का वादा किया है और हिमाचल प्रदेश में पार्टी की राज्य सरकार ने 1,500 रुपए देने का वादा किया है। प्रियंका गांधी मंडी संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस के उम्मीदवार विक्रमादित्य सिंह के समर्थन में वोट मांगने के लिए एक रैली में बोल रही थीं। इससे पहले कुल्ली में आयोजित एक रैली में प्रियंका ने आरोप लगाते हुए कहा था कि एक तरफ कोविड-19 वैक्सीन लगवाने वाले लोग मर रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ भाजपा ने उसी वैक्सीन को बनाने वाली कंपनी से 52 करोड़ रुपए का चंदा लिया।