दर्दनाक मौत की वजह बनी 300 करोड़ की संपत्ति, CCTV से खुल गया राज नहीं तो लालची बहू ने…

इस खबर को शेयर करें

नागपुर में एक बहू ने 300 करोड़ की संपत्ति के लालच में अपने ससुर की हत्या करा दी। इसके लिए एडवांस में दो लाख रुपये दिए थे, लेकिन सीसीटीवी फुटेज से पूरे मामले का खुलासा हो गया। इसके बाद पुलिस ने आरोपी बहू को गिरफ्तार कर लिया। सुपारी लेकर हत्या करने वाले आरोपियों की तलाश जारी है। मृतक के भाई की तत्परता की वजह से पुलिस इस मामले की गुत्थी को सुलझाने में सफल रही।

नागपुर के मानेवाड़ा चौक के पास 22 मई के दिन एक बुजुर्ग की कार हादसे में मौत हो गई थी। 80 वर्षीय पुरुषोत्तम पुट्टेवार अपनी बेटी के घर जा रहे थे। रास्ते में पीछे से आ रही एक कार ने उन्हें कुचल दिया और इस हादसे में उनकी मौत हो गई। शुरुआत में पुलिस को लगा कि पुरुषोत्तम सड़क हादसे का शिकार हुए हैं, लेकिन उनके भाई ने पुलिस अधितकारियों से बात की और हत्या की आशंका जताई। पुलिस ने घटनास्थल के सीसीटीवी फुटेज देखे और इस बात की पड़ताल की गई कि करीबी लोगों के साथ पुट्टेवार के रिश्ते कैसे थे तो पुलिस को उनके बेटे डॉक्टर मनीष के कार चालक सार्थक बागडे पर शक हुआ।

पूछताछ में आरोपियों ने किया खुलासा
पुलिस ने मृतक के बेटे के ड्राइवर को ध्यान में रखते हुए जांच की तो उसके मित्र सचिन धार्मिक और नीरज निनावे का नाम सामने आया। इसके पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर सख्ती बरती तो इन्होंने अपना जुर्म कबूलते हुए कहा कि एक ऑटोमोबाइल फॉर्म से पुरानी कर खरीदी और इस कार से पुट्टेवार को कुचलकर उनकी हत्या कर दी।

संपत्ति के लिए कराई हत्या
80 वर्षीय मृतक पुरुषोत्तम पुट्टेवार के पास 300 करोड़ रुपए की पैतृक संपत्ति है। संपत्ति का हिस्सा नहीं मिलने से नाराज बहू ने अपने ससुर पुरुषोत्तम पुट्टेवार की हत्या की सुपारी दी थी। सुपारी किलर्स ने हत्या में जिस कार का इस्तेमाल किया था,उसे खरीदने के लिए पैसे बहू ने ही दिए थे। बहू अर्चना में आरोपियों को साफ हिदायत दी थी की हत्या हादसा ही लगना चाहिए। इसके लिए उसने एडवांस में ₹200000 दिए थे। आरोपी इस हत्या को हादसा दिखने में कामयाब भी हो चुके थे, लेकिन मृतक के भाई के कारण हत्या का खुलासा हुआ।

बेटी से मिलने जा रहा था मृतक
पुलिस ने बताया कि 300 करोड़ की पैतृक संपत्ति को लेकर विवाद चल रहा था। इसी के कारण सुपारी देकर हत्या कराई गई। मृतक के परिवार में उसकी पत्नी शकुंतला, बेटा डॉक्टर मनीष, पुत्र बधू और बेटी योगिता हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार कुछ समय से मृतक और उनकी पत्नी शकुंतला बेटी योगिता के पास रह रहे थे। मृतक पुरुषोत्तम पुट्टेवार की पत्नी शकुंतला का ऑपरेशन हुआ था। बेटे ने मां को देखभाल के लिए अपने पास रखा था। मृतक बेटी के घर जा रहा था। इसी दौरान कार से कुचल कर उन्हें मौत के घाट उतार दिया गया।