राजस्थान को मिली एक और वंदे भारत ट्रेन, चुनाव नतीजों के बाद होगी संचालित

इस खबर को शेयर करें

अलवर। राजस्थान को नई वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन मिलने वाली है. वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन का रैक जयपुर पहुंच चुका है. जल्द ही रेलवे की तरफ से ट्रेन का रूट निर्धारित किया जाएगा. पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव के परिणाम आने के बाद ट्रेन का संचालन शुरू होगा. जयपुर से अहमदाबाद या जयपुर से इंदौर के बीच ट्रेन का संचालन हो सकता है.

राजस्थान से तीन वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन का संचालन हो रहा है. सबसे पहले अजमेर-दिल्ली के बीच वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन का संचालन शुरू हुआ. उसके बाद जोधपुर से साबरमती व उदयपुर से जयपुर के बीच वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन चलाई गई. यात्री वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन को खासा पसंद कर रहे हैं. यात्रियों को बेहतर सुविधा देने के लिए रेलवे ने राजस्थान में एक ओर वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन चलाने का फैसला लिया है. वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन का रैक जयपुर पहुंच चुका है. लेकिन अभी ट्रेन के संचालन के लिए रूट निर्धारित नहीं हुआ है.

रेलवे अधिकारियों की माने तो जयपुर से अहमदाबाद या जयपुर से इंदौर के बीच वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन चलाई जाएगी. रेलवे की तरफ से ट्रेन का रूट और किराया निर्धारित अभी तक नहीं हुआ है. उत्तर पश्चिम रेलवे की जनसंख्या अधिकारी शशि किरण ने बताया कि वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन का रैक जयपुर पहुंच चुका है. लेकिन अभी तक रूट में किराया निर्धारित नहीं हुआ है. रेलवे बोर्ड से किराया पर रूट निर्धारित होने के बाद ट्रेन का ट्रायल व संचालन शुरू होगा.

जयपुर दिल्ली वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन का हुआ चंडीगढ़ तक विस्तार
रेलवे के अधिकारियों ने बताया कि जयपुर-दिल्ली के बीच चलने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन का विस्तार चंडीगढ़ तक हो चुका है. लेकिन अभी ट्रेन का संचालन चुनाव परिणाम आने के बाद होगा. अभी अजमेर से दिल्ली तक ट्रेन का संचालन हो रहा है. चंडीगढ़ तक विस्तार होने के बाद लोगों को बड़ी राहत मिलेगी.

ट्रेन की बढ़ी रफ्तार
अजमेर से दिल्ली के बीच चलने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन की रफ्तार बढ़ चुकी है. रेलवे के अधिकारियों ने बताया कि रेवाड़ी तक 130 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से ट्रेन का संचालन हो रहा है. अहमदाबाद से रेवाड़ी रेल मार्ग पर ट्रेनों के संचालन के लिए 130 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार की अनुमति मिल चुकी है. ट्रेन की रफ्तार बढ़ने से समय की बचत होगी. कम समय में यात्रा पूरी हो सकेगी.