मुजफ्फरनगर जीआइसी मैदान में अग्निबाण से नहीं रिमोट से मारा जाएगा रावण

अधर्म पर धर्म और बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक विजय दशमी यानी दशहरा पर्व पर दशानन का अंत होगा। जिले में सैंकड़ों जगहों पर रावण, मेघनाद और कुंभकर्ण के पुतले दहन के लिए तैयार हैं।

Ravana will not be killed by remote but with fire in Muzaffarnagar GIC ground
Ravana will not be killed by remote but with fire in Muzaffarnagar GIC ground
इस खबर को शेयर करें

मुजफ्फरनगर। अधर्म पर धर्म और बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक विजय दशमी यानी दशहरा पर्व पर दशानन का अंत होगा। जिले में सैंकड़ों जगहों पर रावण, मेघनाद और कुंभकर्ण के पुतले दहन के लिए तैयार हैं। सेना की अग्निवीर भर्ती चलने के कारण इस बार रावण दहन नुमाइश मैदान के स्थान पर GIC मैदान में होगा। नई बात यह रहेगी कि GIC मैदान में रावण के पुतले का दहन बाण से नहीं बल्कि, श्रीराम के रिमोट से होगा।

दहन के साथ ही होगी जबरदस्त आतिशबाजी
दहशरा पर दहन को इस बार आधुनिक बनाया गया है। सालों से श्रीराम सेवा दल नुमाइश मैदान में रावण के पुतलों का दहन कराता आया है। इस बार नुमाइश मैदान में सेना की अग्निवीर भर्ती चल रही है। जिस कारण दहन का कार्यक्रम GIC मैदान में किया गया है।

40 हजार रुपए के लगाए पटाखे
जहां तैयार कर रावण का 65, कुंभकरण और मेघनाद के 50-50 फीट ऊंचे पुतले खड़े किये गए हैं। तीनों पुतलों में करीब 40 हजार रुपए के पटाखे लगाए गए हैं। पुतले तैयार करने वाले कारीगर रफीक ने बताया कि पुतला तैयार करने में 1000 से 1200 रुपये प्रति फीट का खर्च आया है। पुतलों को आधुनिक तरीके से बनाया गया है। जैसे ही पुतलों का दहन किया जाएगा आसमान आतिशबाजी से पट जाएगा। मुजफ्फरनगर में GIC मैदान सहित पटेल नगर, गांधी कॉलोनी, नई मंडी रामलीला टिल्ला आदि प्रमुख स्थानों पर रावण दहन होगा।