Chanakya Niti: जीवन में यदि तरक्की करनी है तो ऐसे लोगों से कभी नहीं बढ़ानी चाहिए नजदीकी

Chanakya Niti For Motivation in Hindi: चाणक्य नीति के अनुसार अच्छे लोग जहां आपकी सफलता में चार चांद लगाते हैं वहीं गलत लोग सफलता में बाधा भी बनते हैं.

इस खबर को शेयर करें

Chanakya Niti For Motivation in Hindi: चाणक्य नीति के अनुसार जब व्यक्ति बड़े लक्ष्य को लेकर आगे बढ़ता है तो उसे अपनी सोच और दिल भी बड़ा रखना चाहिए. अच्छे लोगों का साथ लक्ष्य को आसानी प्राप्त करने में मदद करता है. वहीं जब आपके आसपास गलत और नकारात्मक विचारों वाले लोगों का जमावड़ा हो जाता है तो लक्ष्य को पूरा करने में मुश्किलें आने लगती हैं. इसलिए जीवन में यदि तरक्की करनी है तो ऐसे लोगों से दूर रहना चाहिए, आइए जानते हैं आज की चाणक्य की नीति-

आचार्य चाणक्य कहते हैं कि मूर्ख शिष्य को उपदेश देना, चरित्रहीन स्त्री का पालन-पोषण करना, किसी दुखी व्यक्ति के साथ रहना. इन सब से हमेशा दुख ही प्राप्त होता है. इसलिए इन स्थितियों से बचने का प्रयास करना चाहिए. इस पर आचार्य चाणक्य ने अपनी पुस्तक चाणक्य नीति में इस पर एक श्लोक भी दिया है-

मूर्खशिष्योपदेशेन दुष्टास्त्रीभरणेन च।
दु:खिते सम्प्रयोगेण पण्डितोऽप्यवसीदति।।

चाणक्य का मानना था कि सलाह उसी व्यक्ति को देनी चाहिए, जो आपकी सलाह पर अमल करे. क्योंकि ऐसे व्यक्ति को सलाह देने का कोई अर्थ नहीं है जो विषय की गंभीरता को न समझता हो. चाणक्य नीति के अनुसार मदद करते समय व्यक्ति को सतर्क रहना चाहिए उस व्यक्त की मदद नहीं करनी चाहिए जिसका आचरण और चरित्र उत्तम न हो. ऐसे व्यक्ति की मदद कर मुसीबत में भी फंस सकते हैं. आचार्य चाणक्य मानते हैं कि हमेशा दुखी और निराश व्यक्ति नकारात्मक ऊर्जा से भरा रहता है. ऐसा व्यक्ति से दूर रहना चाहिए. ऐसे लोगों की संगत आगे बढ़ने से रोकती है. जीवन में सफलता प्राप्त करनी है तो सदैव ऐसे लोगों की संगत करें जो उत्साह, ऊर्जा और सकारात्मक विचारों से भरे हुए हों.