RTO अफसर पडा छापा, घर में मिला खजाना, लग्जरी कारें, फार्महाउस, घर में थिएटर, देखकर उड गये होश

मध्य प्रदेश के जबलपुर में आरटीओ संतोष पाल सिंह के घर पर ईओडब्लू ने छापेमारी की. अकूत संपत्ति देखकर अफसरों के होश उड़ गए. घर में ARTO साहब ने अपना निजी थियेटर तक बना रखा है. काली कमाई से थियेटर में लाल सीटें लगा रखी है. ARTO संतोष पाल सिंह के पास उसकी आमदनी से 650 गुना संपत्ति मिली.

RTO officer raided, found treasure in the house, luxury cars, farmhouse, theater in the house, was blown away after seeing
RTO officer raided, found treasure in the house, luxury cars, farmhouse, theater in the house, was blown away after seeing
इस खबर को शेयर करें

जबलपुर। मध्य प्रदेश के जबलपुर में आरटीओ क घर है या राजा का महल? यह सवाल हम इसलिए पूछ रहे हैं क्योंकि आय से अधिक संपत्ति मामले में जबलपुर आरटीओ संतोष पाल सिंह के घर पर जब छापा पड़ा तो सबकी आंखें खुली की खुली रह गई. आरटीओ संतोष पाल सिंह का घर किसी महल से कम नहीं नजर आ रहा है.

अफसरों ने जब अध‍िकारी की संपत्‍त‍ि देखी तो वह हैरान रह गए. अपनी आमदनी से 650 गुना ज्‍यादा की संपत्‍ति इस आरटीओ के घर से म‍िलने के संकेत म‍िले हैं. जांच में जबलपुर के आरटीओ के पास 16 लाख नगद मिले. एआरटीओ संतोष पाल सिंह के घर का नजारा देखकर आपके होश उड़ जाएंगे.

छापेमारी के दौरान ARTO के घर से मिली संपत्ति

ड्राइग रुम से लेकर बाथरुम तक… हर जगह काली कमाई का नजारा फैला पड़ा है. घर में साहब ने अपना निजी थियेटर तक बना रखा है. काली कमाई से थियेटर में लाल सीटें लगा रखी है. जांच के दौरान आरटीओ संतोष पाल सिंह के कई घर- कई कई गाड़ियां और दूसरे दस्तावेज मिले हैं.

क्या है पूरा मामला?

आर्थिक अपराध प्रकोष्ठ (ईओडब्ल्यू) की टीम ने बुधवार की रात क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी (आरटीओ) संतोष पाल के खिलाफ आय से अधिक की संपत्ति के मामले में छापेमारी की. आरटीओ के घर से नगद 16 लाख के साथ काली कमाई से अर्जित अकूत संपत्ति के दस्तावेज मिले है. शुरुआती छानबीन में सामने आए साक्ष्यों से पता चला है कि आरटीओ की अपनी सेवा अवधि में वैध स्रोतों से प्राप्त आय की तुलना में व्यय और अर्जित संपत्ति 650 प्रतिशत है.

ईओडब्ल्यू की टीम द्वारा शताब्दीपुरम कॉलोनी स्थित उनके आलीशान घर पर कार्रवाई की गई. इस दौरान टीम को नगद 16 लाख और लाखों के आभूषणों के साथ उनके नाम पर आधा दर्जन आशियानों एवं फार्महाउस सहित लग्जरी कारें होने की जानकारी मिली है.

ईओडब्ल्यू एसपी देवेन्द्र प्रताप सिंह के अनुसार, आरटीओ संतोष पाल एवं उनकी लिपिक पत्नी रेखा पाल के पास बेतहाशा संपत्ति होने की शिकायतें मिली थीं, जिसका निरीक्षक स्वर्णजीत सिंह धामी द्वारा सत्यापन कराया गया. देर रात तक की छानबीन में सामने आए साक्ष्यों से पता चला है कि आरटीओ संतोष पाल की अपनी सेवा अवधि में वैध स्रोतों से प्राप्त आय की तुलना में व्यय एवं अर्जित संपत्ति 650 प्रतिशत है.

ईओडब्ल्यू को जांच के दौरान आरटीओ के पीपी कॉलोनी ग्वारीघाट में 1247 वर्गफीट के घर के दस्तावेज मिले हैं. इसी प्रकार शंकर शाह वार्ड में 1150 वर्ग फीट, शताब्दीपुरम (एमआरफोर रोड) पर 10 हजार वर्ग फीट के दो आवासीय भवन, कस्तूरबा गांधी वार्ड में 570 वर्ग फीट और गढ़ाफाटक में 771 वर्गफीट के घर के अलावा ग्राम दीखाखेड़ा, चरगवां रोड पर 1.4 एकड़ भूमि पर बने फार्म हाउस की जानकारी भी मिली है.

जांच के दौरान ही आरटीओ द्वारा क्रय की गयी आई-20 कार (क्रमांक एमपी 20 सीबी 5455), स्कॉर्पियो (क्रमांक एमपी 20 एचए 8653), पल्सर बाइक (क्रमांक एमपी 20 एनएफ 2888) एवं बुलेट (क्रमांक एमपी 20 एमएसजेड 5455) के दस्तावेज भी मिले हैं. यानी एआरटीओ के पास अकूत संपत्ति मिली है.