बिहार में बालू माफिया बेलगाम; माइनिंग इंस्पेक्टर को कुचलने की कोशिश, भागकर बचाई जान

Sand mafia unbridled in Bihar; Attempt to crush mining inspector, saved his life by running away
Sand mafia unbridled in Bihar; Attempt to crush mining inspector, saved his life by running away
इस खबर को शेयर करें

पटना: बिहार में बेलगाम हो चुके बालू माफिया अब शासन और प्रशासन को टक्कर दे रहे हैं। बिहटा में अवैध बालू खनन के खिलाफ कार्रवाई रविवार को करने पहुंची पुलिस और खनन निरीक्षक को बालू माफिया के गुर्गों ने रौंदने की कोशिश की। सबने भागकर अपनी जान बचाई। इस बाबत बिहटा थाने में केस दर्ज किया गया है।

बिहटा थानाध्यक्ष कमलेश्वर प्रसाद सिंह ने बताया कि सोन नदी के पांडेचक गांव के पास अवैध बालू खनन की सूचना पुलिस को मिली। खनन विभाग की टीम के साथ पुलिस टीम ने छापेमारी की। पुलिस के आने के भनक पहले मिल जाने के कारण अवैध खनन में लगे लोग ट्रैक्टर लेकर भागने लगे। इस पर पुलिस ने उनका पीछा किया। इसके बाद सभी ट्रैक्टर लेकर लोग पांडेचक गांव में विकास यादव के घर पास पहुंच गए और ट्रैक्टर छुपा कर फरार हो गए।

इस दौरान खनन विभाग की जांच में किसी के पास चालान नहीं मिला। कागजी कार्रवाई करते हुए खनन विभाग ने 6 ट्रैक्टर को जब्त कर लिया। इतने में का़फी संख्या में महिलाओं और बच्चों को साथ लेकर माफिया पुलिस को बातों में उलझाते हुए विवाद करने लगे। छापेमारी करने गई टीम के साथ जमकर बदतमीजी भी की। उसके बाद भी जब अधिकारी पीछे नहीं हटे तो ट्रैक्टर से कुचलने की कोशिश की गई।

सभी लोग बाल-बाल बचे

दूसरी ओर ट्रैक्टर पर ड्राइवर को भेजकर उसे भगाने की कोशिश शुरू कर दी। जब उसे रोकने की कोशिश की गई तो पुलिसकर्मी व खनन निरीक्षक को रौंदने की कोशिश की गई। हालांकि सभी लोग बाल-बाल बच गये। ट्रैक्टर का डाला उठाकर बालू गिराते हुए सभी फरार हो गये। इस संबंध में प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी गई है। थानाध्यक्ष कमलेश्वर प्रसाद ने कहा है कि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है। कहा है कि सभी आरोपियों को हर हाल में जेल भेजा जाएगा।