मुजफ्फरनगर में बच्चे की लाश मिलने से फैली सनसनी, लाश के पास मिला तंत्र-मंत्र का सामान

Sensation spread after the dead body of a child was found in Muzaffarnagar, Tantric paraphernalia was found near the dead body.
Sensation spread after the dead body of a child was found in Muzaffarnagar, Tantric paraphernalia was found near the dead body.
इस खबर को शेयर करें

मुजफ्फरनगर। मुजफ्फरनगर में एक मकान में बच्चे की लाश मिलने से सनसनी फैल गई। मासूम की लाश के पास तंत्र-मंत्र क्रिया का सामान भी मिला है। आखिर तंत्र क्रिया का खतरनाक खेल किसने खेला है? जल्द ही इसका खुलासा होगा।

मुजफ्फरनगर में खतौली के गांव कैलावड़ा कलां में सात वर्षीय बच्चे का शव अपने ही घर के कमरे में पड़ा मिला। जानकारी मिलने पर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। कमरे से तंत्र क्रिया में प्रयोग होने वाली सामग्री भी मिली है। सीओ ने मौके पर पहुंच कर जांच-पड़ताल की। फॉरेंसिक टीम ने भी साक्ष्य जुटाए। पुलिस ने मृतक के चाचा, चाची समेत कई लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की है।

पुलिस को सूचना मिली कि गांव कैलावड़ा कलां में एक बच्चे की हत्या कर दी गई। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर तेजपाल सैनी के मकान का दरवाजा खुलवाया तो पुलिस को तेजपाल के सात वर्षीय पुत्र केशव का शव कमरे में संदूक के पास पड़ा मिला। परिवार के दस सदस्य घर में ही मौजूद थे। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया।

वहीं, कार्यवाहक खतौली सीओ डॉ. रविशंकर मिश्रा भी पहुंचे। उन्होंने जांच पड़ताल की। फॉरेंसिक टीम ने भी मौके से साक्ष्य एकत्र किए। घटना के बाद तेजपाल के घर के आसपास सैकड़ों लोग जमा हो गए थे।

मृतक के पिता तेजपाल ने बताया कि उसका पुत्र रात के समय सो रहा था। वह अचानक जाग कर उठ खड़ा हुआ। उसके गले में एक चुनरी बंधी मिली थी। जांच के दौरान कमरे से चावल, दीया, हल्दी, दाल आदि एक पोटली में बंधी मिली। एक पत्र भी मिलना बताया गया है। पुलिस ने तमाम चीजों को कब्जे में लिया है। पुलिस मृतक के चाचा, चाची और माता-पिता को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

लगा रहता है तांत्रिकों का आना-जाना
शव मिलने की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस को देख कर ग्रामीणों की भीड़ एकत्र हो गई थी। कुछ ग्रामीणों का कहना था कि तेजपाल के मकान में तांत्रिकों का आना जाना लगा रहता था। इनके घर पर कोई पड़ोसी भी नहीं आता जाता है। इनके घर का दरवाजा हर समय बंद ही रहता है।

मृतक के चार साल के भाई की 24 अप्रैल को हुई मौत
सीओ डॉ. रविशंकर मिश्रा ने बताया कि तेजपाल के चार साल के बेटे लक्की की 24 अप्रैल को मौत हो गई थी। जानकारी पर पुलिस मौके पर पहुंची थी। परिजनों ने उसकी स्वाभाविक मौत होना बताते हुए कोई कार्रवाई नहीं करने की बात लिखित में दी थी। कोतवाली प्रभारी उमेश रोरिया ने बताया कि बच्चे के गले पर खरोंच के निशान थे। पोस्टमार्टम के बाद ही मौत के कारण का पता चलेगा।

एसपी सिटी सत्य नारायण प्रजापत का कहना है कि बच्चे की संदिग्ध हालत में मौत हुई है। कमरे से पूजा का सामान व पत्र मिला है, जिसमें मंत्र लिखे हुए हैं। तंत्र-मंत्र का मामला प्रतीत हो रहा है। पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद कार्रवाई की जाएगी।