सुबह कंपकंपाती ठंड, दोपहर में खिलेगी धूप, अब ऐसा रहेगा दिल्ली का मौसम, लेकिन प्रदूषण क्यों दे रहा टेंशन

राजधानी दिल्ली में ठंड की दस्तक के साथ लोगों के गर्म कपड़े और रजाईयां भी निकलना शुरू हो गई हैं। न्यूनतम तापमान 8 से 9 डिग्री सेल्सियस पर है वहीं दोपहर में शानदार धूप खिली दिखती है। माना जा रहा है कि आगे अभी तापमान में और गिरावट देखी जा सकती है।

Shivering cold in the morning, sunshine will bloom in the afternoon, now Delhi's weather will be like this, but why is pollution giving tension
Shivering cold in the morning, sunshine will bloom in the afternoon, now Delhi's weather will be like this, but why is pollution giving tension
इस खबर को शेयर करें

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली में इस बार तो लोगों को दशहरे के बाद से ही हल्की ठंड का अहसास होने लगा था। हालांकि बाद में बढ़ते पलूशन ने जरूर थोड़ी दिक्कतें खड़ी की थीं लेकिन अब उसके भी कंट्रोल होते ही फिर से ठंड ने अपना असर दिखाना शुरु कर दिया है। सुबह के समय ठंड लगातार बढ़ रही है। लोगों ने पेटियों से कंबल और गर्म कपड़े निकालने शुरू कर दिए हैं। न्यूनतम तापमान अब 10 डिग्री से नीचे पहुंच गया है। वहीं अधिकतम तामपान 26-27 डिग्री के आस-पास नोट किया जा रहा है। मौसम विभाग की मानें तो आने वाले दिनों में तापमान में और गिरावट आ सकती है। दिल्ली में बीती रात दो साल में नवंबर की सबसे सर्द रात रही।

आज और आगे कैसा रहेगा दिल्ली का मौसम
मौसम विभाग ने बताया कि गुरुवार को आसमान साफ रहेगा। सुबह के समय धुंध रह सकती है। अधिकतम तापमान 26 और न्यूनतम तापमान 8 डिग्री के आसपास रह सकता है। 29 नवंबर तक अधिकतम तापमान 26 से 27 डिग्री तक रहने के आसार हैं। वहीं न्यूनतम तापमान भी इस दौरान 7 से 8 डिग्री तक बना रहेगा। स्काईमेट के अनुसार अगले कुछ दिनों में न्यूनतम तापमान में और अधिक गिरावट आ सकती है। पहाड़ों से आ रही ठंडी हवाएं राजधानी में गिरते तापमान की वजह है।

पलूशन फिर दे सकता है टेंशन
प्रदूषण से तेज हवाओं ने लोगों को राहत दिलाई, लेकिन यह राहत महज आज भर की है। अब प्रदूषण के एक बार फिर बढ़ने की संभावना है। इसकी वजह हवाओं की दिशा कमजोर होना है। इस बार प्रदूषण की वजह पराली भी नहीं होगी। पराली जलाने के मामले अब लगभग खत्म हो गए हैं।

आईआईटीएम पुणे के अनुसार 24 नवंबर को प्रदूषण खराब स्तर पर ही बना रहेगा। इसमें बाद इसमें इजाफा होगा और यह 25 नवंबर को बेहद खराब स्तर पर पहुंच जाएगा। 26 नवंबर को भी प्रदूषण बेहद खराब स्तर पर रहेगा। इसके बाद अगले छह दिनों तक यह बेहद खराब स्तर पर ही बना रहेगा। सफर के अनुसार बुधवार को पराली जलाने की वजह से राजधानी तीन प्रतिशत तक प्रदूषित रही। अगले तीन दिनों तक उत्तर पश्चिमी हवाएं चलेंगी। यह हवाएं प्रदूषण लेकर आएंगी। अगले तीन दिनों तक प्रदूषण का स्तर खराब रहेगा। इंडियन एग्रीकल्चर रिसर्च इंस्टिट्यूट के अनुसार बुधवार को पंजाब में पराली जलाने के महज 140, हरियाणा में 27, यूपी में 73, मध्य प्रदेश में 259 और राजस्थान में 10 मामले सामने आए हैं।