ऐसी बेकाबू हुई पत्नी, हथौडा उठा मचा दिया कोहराम, एक-एक करके ली पूरे परिवार की जान-देंखे तस्वीरें

रायपुर से लगे तिल्दा में हुए कारोबारी परिवार की हत्या और खुदकुशी मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। तिल्दा पुलिस के मुताबिक अपने परिवार को खत्म करने के पीछे कारोबारी की पत्नी का हाथ रहा।

Such an uncontrollable wife, the hammer created a ruckus, the pictures of the whole family were taken one by one
Such an uncontrollable wife, the hammer created a ruckus, the pictures of the whole family were taken one by one
इस खबर को शेयर करें

रायपुर। रायपुर से लगे तिल्दा में हुए कारोबारी परिवार की हत्या और खुदकुशी मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। तिल्दा पुलिस के मुताबिक अपने परिवार को खत्म करने के पीछे कारोबारी की पत्नी का हाथ रहा। अपने गुस्सैल स्वभाव की वजह से एक मां हत्यारी बन गई। अपने दोनों छोटे बच्चों का गला दबाकर जान ले ली और पति को भी हथोड़ा मारकर उसकी हत्या कर दी। फिर उसने खुद खुदकुशी कर ली है।

मामले की जांच में जुटी तिल्दा पुलिस को परिवार से की गई पूछताछ और शॉर्ट पीएम रिपोर्ट के जरिए कई अहम जानकारियां मिली हैं। तिल्दा पुलिस के मुताबिक शॉर्ट पीएम में यह बात साबित हुई है कि महिला रुचि जैन की मौत, पति पंकज और बच्चों, बिट्टू (11 साल की बेटी ) भय्यू (8 साल का बेटा)की मौत के बाद हुई। रुचि के शव की जांच से यह बात साबित हुआ है कि उसकी हत्या नहीं की गई बल्कि उसने खुद फांसी लगाकर जान दी है। महिला के पति के सिर पर आई गहरी चोट और बच्चों के गले पर पड़े दबाव की जांच में यह तथ्य सामने आए हैं कि इन तीनों की हत्या की गई है।

तिल्दा पुलिस के मुताबिक परिजनों और पड़ोसियों से पूछताछ में इस बात का खुलासा हुआ है कि कारोबारी पंकज जैन की पत्नी रुचि बेहद गुस्सैल स्वभाव की थी । अक्सर वह अपनी बेटी बिट्टू को कभी चिमटे तो कभी दूसरे बर्तन फेंक कर छोटी-छोटी बात पर मारा-पीटा करती थी। इस बात को लेकर पंकज का अपनी पत्नी से गहरा विवाद हुआ करता था। क्योंकि वह अपनी बेटी से बेहद प्यार करता था।

पति पत्नी के बीच विवाद का कारण पंकज की बहन भी थी। पता चला है कि वारदात के अगले ही दिन पंकज अपनी बहन को लेने के लिए पास के ही गांव जाने वाला था। पंकज की पत्नी रुचि को यह पसंद नहीं था कि पति बहन का घर में आना जाना हो। इसी बात को लेकर दोनों के बीच कई बार विवाद हो चुका है। पुलिस का मानना है कि 2 दिन पहले भी ऐसी बातों को लेकर दोनों के बीच में झगड़ा बढा होगा। जिसके बाद पत्नी ने पति के सिर पर हथौड़ी दे मारी। महिला का वार इतना जबरदस्त था कि हथौड़ी पड़ते ही जमीन पर बेसुध गिर पड़ा। इसके बाद पत्नी रुचि नहीं उसका गला दबा दिया।

घटनास्थल का मुआयना करने पर पुलिस ने यह पाया कि महिला ने पति को मारने के बाद बच्चों का गला दबाकर उनकी हत्या कर दी। माना जा रहा है कि हत्या के बाद महिला को पकड़े जाने या जेल जाने का डर रहा होगा। ऐसे में बच्चों के भविष्य खराब हो जाते, महिला के सिर पर पहले ही खून सवार था और इसी वजह से उसने बच्चों की जिंदगी खत्म करने की ठानी । अक्सर इस तरह के पुराने केसेस में भी महिलाओं ने ऐसे कदम उठाएं हैं।

कोई हत्यारा नहीं आया

अब तक की पुलिस और फॉरेंसिक एक्सपर्ट की जांच में यह तथ्य पुख्ता माना जा रहा है कि कारोबारी के घर बाहर से कोई भी व्यक्ति नहीं आया। जब घटना की जानकारी मिली तब कमरा अंदर की तरफ से बंद किया गया था। फॉरेंसिक एक्सपर्ट्स ने पूरे घर की जांच की है किसी भी व्यक्ति के बाहर से अंदर आने या बाहर जाने का कोई सुराग नहीं मिला है। ना ही किसी तरह की कोई फिंगरप्रिंट । जबकि ऐसे मामलों में अगर बाहरी व्यक्ति द्वारा हत्या की जाए तो सबूत मिल जाते हैं। हथौड़ी पर महिला के ही फिंगर प्रिंट हैं। आखिर महिला का खुदकुशी कर लेना भी इस बात को पुष्ट करता है कि इस पूरे कांड में किसी बाहरी व्यक्ति का हाथ नहीं है। हालांकि इस पूरे प्रकरण में रुचि जैन का परिवार हत्या होने के आरोप लगा रहा है, रुचि जैन के परिवार का कहना है कि इस मामले के पीछे जो भी हो उसके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। हालांकि अब तक किसी बाहरी व्यक्ति द्वारा इस वारदात को अंजाम दिए जाने की कोई भी सबूत नहीं मिले हैं।

यह हुआ था उस दिन

2 दिन पहले शुक्रवार को तिल्दा के बजरंग चौक इलाके में रहने वाले पंकज जैन का परिवार दिन भर घर के भीतर ही रहा। बाहर पड़ोसियों को कोई हलचल नजर नहीं आई। जब पंकज के परिजन मिलने पहुंचे तब दरवाजा किसी ने नहीं खोला। खिड़की से झांकने पर अंदर सब की लाशें नजर आई। पंकज जैन (45) का सीमेंट-सरिया का कारोबार था। पंकज अपनी पत्नी रुचि जैन (40), दो बच्चों बिट्‌टू जैन (11) और भय्यू जैन (8) के साथ रहते थे। बताया जा रहा है कि शुक्रवार देर शाम जब पंकज के भाई घर लौटे तो सभी की मौत का पता चला।