Tarun Majumdar Hospitalised: इस मशहूर डायरेक्टर की हालत हुई नाजुक, इलाज के लिए ICU में करना पड़ा भर्ती

Tarun Majumdar Hospitalised: मनोरंजन जगत से पिछले दिनों से कोई अच्छी खबर सामने नहीं आ रही हैं. हाल ही में हुई सिंगर केके की अचानक मौत ने लोगों को हिला कर रख दिया था.

Tarun Majumdar Hospitalised: The condition of this famous director became critical, had to be admitted to the ICU for treatment
Tarun Majumdar Hospitalised: The condition of this famous director became critical, had to be admitted to the ICU for treatment
इस खबर को शेयर करें

Tarun Majumdar Hospitalised: मनोरंजन जगत से पिछले दिनों से कोई अच्छी खबर सामने नहीं आ रही हैं. हाल ही में हुई सिंगर केके की अचानक मौत ने लोगों को हिला कर रख दिया था. अब फैंस के लिए एक और चौंकाने वाली खबर सामने आ रही है. एक मशहूर डायरेक्टर की इन दिनों हालत खराब है और इस वजह से उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया है.

अस्पताल में भर्ती तरुण

पश्चिम बंगाल के दिग्गज और जाने-माने फिल्म डायरेक्टर तरुण मजूमदार (Tarun Majumdar) की हालत इन दिनों काफी गंभीर है. सूत्रों ने हाल ही में बताया कि 92 साल के फिल्म निर्देशक मजूमदार को गुर्दे की समस्या की शिकायत के बाद बीते शुक्रवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था, उनका अभी एसएसकेएम अस्पताल के सीसीयू में इलाज चल रहा है. अस्पताल के एक प्रवक्ता ने बताया था कि उनकी हालत में पहले सुधार हो रहा था. जिसके बाद उन्हें जनरल वार्ड में ट्रांसफर कर दिया था लेकिन सोमवार रात को उनकी तबीयत फिर से खराब होने लगी जिसके बाद उन्हें फिर से आईसीयू में भर्ती कराया गया है.

जीते कई अवॉर्ड्स

तरुण मजूमदार (Tarun Majumdar) को 1962 की बंगाली फिल्म ‘कांचर स्वर्ग’ के लिए पहला राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया था. तरुण मजूमदार को एक राष्ट्रीय पुरस्कार, एक बीएफजेए पुरस्कार और निमंत्रण (1971) के लिए एक फिल्मफेयर पुरस्कार मिला. इसके अलावा गणदेवता (1979) ने उन्हें राष्ट्रीय पुरस्कार और फिल्मफेयर पुरस्कार दिलाया. वह वर्ष 1990 में पद्म श्री और पांच फिल्मफेयर पुरस्कार से नवाजे गये.

तरुण की ब्लॉकबस्टर फिल्में

तरुण (Tarun Majumdar) की फिल्मों की बात करें तो उन्होंने बालिका बधू (1967), कुहेली (1971), श्रीमन पृथ्वीराज (1973), फुलेश्वरी (1974), दादर कीर्ति (1980), भालोबासा (1985) और अपान अमर अपान (1990) जैसी ब्लॉकबस्टर फिल्में बनाईं. उनकी पत्नी संध्या रॉय ने उनकी बीस फिल्मों में और तापस पॉल ने आठ में अभिनय किया. मौसमी चटर्जी, महुआ रॉयचौधरी, अयान बनर्जी और तापस पॉल को उनके द्वारा सल्विर स्क्रीन पर पेश किया गया था.