‘कहां बुलाता है रे बोल, वहीं आकर मारेंगे गोली…’, बिहार में रेफरल प्रभारी के बिगड़े बोल

'Tell me where he calls you, he will come there and shoot you...', the distorted words of the referral in-charge in Bihar
'Tell me where he calls you, he will come there and shoot you...', the distorted words of the referral in-charge in Bihar
इस खबर को शेयर करें

जमुई। “कहां बुलाता है रे बोल वहीं आकर मारेंगे ….. मा….. । यही रूप देखना चाहता था। मारेंगे गा….. में गोली। राष्ट्रपति भवन भी जाएगा तो भी गोली मार देंगे। हम अपने पागल हैं। नौकर समझ लिया है। हाथ पैर काट लेंगे। फोन नहीं कर पाएगा। कहां है बोलो ना पटना में। वहीं आ जाएंगे, राष्ट्रपति भवन भी पहुंच जाएंगे। पटना में कौन नेता कैसे बनता है सब मालूम है। तोरा घर पर पहुंच जाएंगे। रिकार्डिंग कर और जिसको देना है दे दो डीएम, सीएस को और कुछ रिकार्डिंग करेगा।”

ऐसे ही दो-तीन ऑडियो दो-तीन दिनों से चकाई में सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। बताया गया कि वायरल ऑडियो चकाई रेफर प्रभारी बी.के राय का है, जिसमें वह एबीवीपी के पूर्व जिला संयोजक कृष्ण गोपाल राय को भद्दी-भद्दी गालियां दे रहे हैं। दैनिक जागरण इस वायरल ऑडियो की पुष्टि नहीं करता है। ऑडियो वायरल होने के बाद एबीवीपी नेता ने क्लिप सीएस और डीएम को भेजा है। सीएस ने प्रभारी से स्पष्टीकरण मांगा है।

‘कितना नेता पैदा कर दिए’
मामला एबीवीपी नेता से जुड़े होने के कारण राजनीतिक सरगर्मी भी बढ़ गई है। पूर्व विधान पार्षद संजय प्रसाद ने डीएम और सीएस से बात कर ऑडियो की जांच कर सख्त कार्रवाई की मांग की है। वायरल ऑडियो में एक जगह रेफरल प्रभारी कहते नजर आ रहे हैं कि बी.के राय बोल रहा हूं रेफरल प्रभारी। जो भी रिकॉर्डिंग करना है कर लो। नेता बनता है। 20 साल पहले विद्यार्थी परिषद छोड़ दिए पता नहीं है। कितना नेता पैदा कर दिए। सीएस को फोन करता है। एके-47 से मारेंगे।

अभाविप नेता ने बताया कि दो दिन पूर्व उन्होंने रेफरल अस्पताल की कुव्यवस्था में सुधार की मांग को लेकर रेफरल प्रभारी को फोन किया था जिसमें उन्होंने फोन रिसीव नहीं किया था। जिसके बाद उन्होंने मामले की सूचना सीएस को दी। इसके बाद रेफरल प्रभारी से उनकी फोन पर बातचीत हुई। इसी दौरान प्रभारी आग बबूला हो गए और अपना आपा खो बैठे तथा भद्दी बद्दी गालियां देनी शुरू कर दी।

मेरी कृष्ण गोपाल राय से कोई बातचीत नहीं हुई है। वायरल ऑडियो में मेरी आवाज नहीं है। एडिट कर इसमें मेरा नाम जोड़कर चलाया जा रहा है। मेरी छवि खराब की जा रही है। मैं नियमित रूप से अस्पताल में रहकर मरीजों को देखता हूं। – बीके राय, रेफरल प्रभारी, चकाई।

तुल पकड़ने लगा मामला, आंदोलन के मूड में एबीवीपी
यूं तो डॉक्टर को भगवान और सौम्यता का प्रतीक माना जाता है, लेकिन चकाई रेफरल प्रभारी के बारे में यह सोच छोटी पड़ जा रही है। कम से कम एबीवीपी के एक नेता के साथ बातचीत का ऑडियो यही बता रहा है। यह बातचीत एबीवीपी नेता कृष्ण गोपाल राय और रेफरल प्रभारी बीके राय के बीच का है।

जागरण ऑडियो की पुष्टि नहीं करता है। इधर, गाली सुनने वाले नेता ने इसकी शिकायत डीएम से की है। ऑडियो वायरल होने के बाद मामला तूल पकड़ने लगा है। एबीवीपी आंदोलन के मूड में है। एबीवीपी नेता कृष्ण कुमार गुप्ता ने बताया कि जिला प्रशासन अविलंब वायरल ऑडियो की जांच कर प्रभारी पर कार्रवाई करें अन्यथा एबीवीपी पूरे जिले में आंदोलन करेगी।