यही नहीं रुकेंगे सोने के रेट…बढ़कर एक लाख पर पहुंचेगा? लगातार क्‍यों आ रही तेजी

The rate of gold will not stop here... will it rise to one lakh? Why is it continuously rising?
The rate of gold will not stop here... will it rise to one lakh? Why is it continuously rising?
इस खबर को शेयर करें

Silver Price: सोने और चांदी की कीमत प‍िछले द‍िनों र‍िकॉर्ड लेवल पर पहुंच गई थीं. हालांक‍ि उसके बाद इसमें कुछ ग‍िरावट आई है. सोने की कीमत में यह तेजी दुन‍ियाभर के केंद्रीय बैंकों की तरफ से गोल्‍ड की खरीदारी बढ़ने के बाद आई है. दुनियाभर के बढ़ते तनाव और महंगाई के बीच गोल्‍ड की डिमांड बढ़ रही है. वर्ल्‍ड गोल्ड काउंसिल (WGC) के अनुसार साल 2023 में दुन‍ियाभर के केंद्रीय बैंकों ने 1,037 टन सोना खरीदा है. इससे पहले साल 2022 में केंद्रीय बैंकों की तरफ से 1,082 टन सोने की खरीद की गई थी. मौजूदा साल में ही केंद्रीय बैंकों ने जनवरी से लेकर मार्च तक 290 टन सोना खरीदा है.

साल 2023 में 1037 टन सोना खरीदा

आरबीआई समेत दुनियाभर के सेंट्रल बैंकों ने साल 2023 में 1,037 टन सोना खरीदा था. यह 2022 में 1,082 टन की खरीद के बाद दूसरी सबसे बड़ी सालाना खरीद थी. जनवरी- मार्च 2024 में केंद्रीय बैंकों ने अब तक 290 टन सोना खरीदा है. जानकारों का कहना है क‍ि अगले 12 महीने में भी सेंट्रल बैंकों की गोल्ड खरीद थमने वाली नहीं है. डब्ल्यूजीसी की तरफ से क‍िये गए सर्वे में शाम‍िल 70 में से 81 प्रत‍िशत केंद्रीय बैंकों ने कहा कि इस साल ऑफिशियल सेक्टर का गोल्ड रिजर्व बढ़ेगा. 69% ने कहा क‍ि 5 साल में विदेशी मुद्रा भंडार में गोल्‍ड की हिस्सेदारी बढ़ेगी.

इस कारण बढ़ रही सोने की ड‍िमांड
सोने की लगातार ड‍िमांड बढ़ने की खबर के बीच असली सवाल ये है कि सोने की कीमत क‍िस तेजी के साथ बढ़ेगी. हर साल अक्षय तृतीया के मौके पर सोने की मांग बढ़ जाती है. इस दिन को सोने के गहने खरीदने के शुभ माना जाता है. जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज में कमोडिटीज के हेड हरीश वी का मानना है कि लंबे समय में सोने की मजबूत वैश्‍व‍िक कीमतें, देश और दुनिया में बढ़ती मांग और कमजोर रुपया सोने की तेजी को बनाए रखने में मदद करेंगी. उन्होंने कहा कि इंटरनेशनल मार्केट में कमजोर अमेरिकी डॉलर, ब्याज दर में कटौती की उम्मीद, बढ़ती ज‍ियो-पॉल‍िट‍िकल टेंशन, ग्‍लोबल इकोनॉम‍िक आउटलुक और केंद्रीय बैंकों की तरफ से सोना खरीदे जाने से इसकी कीमत में तेजी आ रही है.

पांच साल में दोगुना हुआ सोने का रेट
उन्‍होंने कहा क‍ि सोना पहले से भी न‍िवेशकों की पसंद रहा है. यह निवेशकों को सेफ्टी और अच्छा रिटर्न दोनों देता है. डोमेस्‍ट‍िक गोल्‍ड प्राइस में पिछले पांच साल में दोगुना और करीब 20 साल में 10 गुने से ज्‍यादा वृद्धि देखी गई है. इस साल अक्षय तृतीया के मौके पर सोने का रेट 72000 रुपये के करीब था. प‍िछले साल 22 अप्रैल को अक्षय तृतीया के मौके पर 24 कैरेट वाले सोने की कीमत 61,300 रुपये प्रत‍ि 10 ग्राम थी. इस तरह सोने में न‍िवेश करने वालों को 10 मई 2024 की अक्षय तृतीया तक 17 प्रत‍िशत का र‍िटर्न म‍िला है. साल की शुरुआत से ही अब तक सोना करीब 12 प्रत‍िशत चढ़ गया है.

आने वाले महीने में दाम में मजबूती बने रहने के आसार
सोने ने अब तक साल दर साल के आधार पर अच्छा प्रदर्शन किया है. आने वाले महीनों में भी इसके दाम में मजबूती बने रहने के आसार हैं. केंद्रीय बैंकों की तरफ से लगातार खरीद बढ़ने से हो सकता है कि आने वाले समय में सोने की कीमतें बाजार को चौंका दें. हो सकता है अगली अक्षय तृतीया तक सोना एक लााख रुपये प्रति 10 ग्राम के आंकड़े को पार कर जाएं. हालांकि, अगली अक्षय तृतीया तक इसका रेट एक लाख रुपये तक पहुंचने के लिए सोने को अगले 12 महीने में करीब 40% का रिटर्न देना होगा.