अभी अभीः मोदी सरकार ने आम जनता को दिया दीवाली का तोहफा, जानकर झूम उठेंगे आप

Small Saving Scheme Interest Rate Hike: स्माल सेविंग स्कीम में निवेश करने वालों के लिए बड़ी खुशखबरी है. सरकार ने इन योजनाओं में निवेश करने वालों के लिए बड़ा ऐलान किया है. तीसरी तिमाही (अक्टूबर-दिसंबर) के लिए स्माल सेविंग स्कीम की नई ब्याज दरों की घोषणा हुई है. आइये जानते हैं लेटेस्ट अपडेट.

The snake showed the stunt, then the senses of the people flew away, stood upright without support! Watching the video will make you dizzy
The snake showed the stunt, then the senses of the people flew away, stood upright without support! Watching the video will make you dizzy`
इस खबर को शेयर करें

Small Saving Scheme: सुकन्या समृद्धि योजना, एफडी, किसान विकास पत्र जैसी छोटी योजनाओं में निवेश करने वालों के लिए बड़ी खबर है. केंद्र सरकार ने गुरुवार को तीसरी तिमाही (अक्टूबर-दिसंबर) के लिए स्माल सेविंग स्कीम की नई ब्याज दरों की घोषणा कर दी है. इसके तहत सरकार ने 1 अक्टूबर से शुरू होने वाली तिमाही के लिए छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दर में 30 बेसिस प्वाइंट तक की बढ़ोतरी की है. इस घोषणा के बाद डाकघरों में 3 साल की फिक्स्ड डिपॉजिट मौजूदा 5.5 प्रतिशत से बढ़ कर 5.8 प्रतिशत हो गया है.

सरकार ने बढ़ाई ब्याज दरें

सरकार ने इस घोषणा के तहत वरिष्ठ नागरिक बचत योजना के लिए ब्याज दर 7.4% से बढ़ाकर 7.6%, किसान विकास पत्र के लिए 6.9% से बढ़ाकर 7 फीसदी और दो व तीन साल की फिक्स्ड डिपॉजिट के लिए भी ब्याज दरों को बढ़ाया है. इतना ही नहीं, किसान विकास पत्र के लेकर टैन्योर में भी बदलाव हुआ है. आपको बता दें कि अब 7 फीसदी ब्याज दर वाले KVP की मैच्योरिटी 123 महीने कर दी गई है.

इन योजनाओं में नहीं हुआ बदलाव

दूसरी तरफ सेविंग डिपॉजिट, 1 साल, 5 साल की एफडी, नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (NCS), सुकन्या समृद्धि योजना, सार्वजनिक भविष्य निधि (PPF) के निवेशकों को तगड़ा झटका लगा है, क्योंकि इन योजनाओं पर पर मिलने वाली ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया गया है. इन योजनाओं के निवेशकों को पहले जितनी ही ब्याज दरें मिलती रहेंगी. हालाँकि आरबीआई

आरबीआई की कल रही है बैठक

गौरतलब है कि इस तरह की योजनाओं में कोई भी घोषणा आरबीआई की बैठक के बाद होती थी. लेकिन इस बार सरकार ने इसकी घोषणा एक दिन पहले ही कर दी है. दरअसल, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की MPC की बैठक कल 28 सितंबर से शुरू हुई और 30 सितंबर को समाप्त होगी. ऐसे में, उम्मीद की जा रही है कि कल पॉलिसी रेट्स को संशोधित किया जा सकता है.