मुजफ्फरनगर के लिये खुशखबरीः होगा 7805 करोड़ का निवेश, पूरा खाका तैयार

इस खबर को शेयर करें

मुजफ्फरनगर। मुजफ्फरनगर में उद्योगों को बढ़ावा देने और औद्योगिक क्षेत्रों में अधिक से अधिक निवेश हो, इसके लिए जिला प्रशासन एवं उद्योग विभाग ने पूरा खाका तैयार कर लिया है। खास बात यह है कि इस बार उद्योगों में करीब 7805 करोड़ का निवेश होने जा रहा है। इतना ही नहीं अधिकतम 10 करोड़ से अधिक का निवेश करने वाले जिले के करीब 60 उद्यमी आगामी 19 फरवरी को लखनऊ में होने जा रहे ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी कार्यक्रम में भी शामिल होंगे। ये सभी उद्यमी 86 इकाइयों में अपना निवेश करने जा रहे हैं।

जनपद में पेपर और स्टील मिल के अलावा कई औद्योगिक इकाईयां संचालित हैं। तकरीबन 221 इकाइयों में से 86 औद्योगिक इकाइयों में यहां के उद्यमी 7805 करोड़ रुपये का निवेश करने जा रहे हैं। जिला प्रशासन, आईआईए और जिला उद्योग केन्द्र के स्तर पर निवेश को लेकर पूरी तैयारी कर ली गई है। 86 इकाइयों के प्रोजेक्ट स्वीकृत किए जा चुके हैं और बाकी की प्रक्रिया चल रही है।

जिले में हैं कई पेपर मिल, इस्पात मिल व आठ शुगर मिलें मुजफ्फरनगर औद्योगिक जिलों में शुमार है। जिसमें प्रमुख उत्पाद चीनी, इस्पात और पेपर मिल है। यहां आठ चीनी मिलें टिकोला चीनी मिल, आईपीएल शुगर मिल, तितावी शुगर मिल, त्रिवेणी शुगर मिल, मंसूरपुर शुगर मिल, उत्तम शुगर मिल, बजाज शुगर मिल और डिस्टिलरीज शामिल हैं।

बायोगैस, स्टील मिल, पेपर मिल में होगा ज्यादा निवेश
जिले में नए निवेशक इस बार सबसे ज्यादा बायोगैस, स्टील, पेपर मिल और शीतल पेय कोका कोला में निवेश कर रहे हैं। इसके अलावा सोलर एनर्जी में निवेश की भरपूर संभावना है। ज्यादातर उद्यमी खुद सोलर एनर्जी पावर प्लांट लगाने में लगे हुए हैं जिससे कि इकाइयों का संचालन के साथ विद्युत जनरेट कर विद्युत निगम को बिक्री की जा सके।

जिला उद्योग उपायुक्त जैस्मिन ने बताया कि विभिन्न प्रोजेक्ट में उद्यमीगण करीब 7805 करोड़ का निवेश करेंगे और इनकी वजह से 2000 हजार से अधिक लोगों के लिए रोजगार के अवसर पैदा होंगे। 10 करोड़ से कम के निवेशकों का कार्यक्रम जनपद मुजफ्फरनगर में ही होगा और इससे अधिक के निवेश करने वाले उद्यमी लखनऊ में आयोजित होने वाले कार्यक्रम में शामिल होंगे।

इन उद्योगों से जनपद की दशा सुधरेगी

संगल इंडस्ट्री, सप्तम डेकोर, ग्रैंड रेडियंट, सॉलिटेयर इन ग्रांड, सुपा पैनल्स, रोज विला फार्म्स, स्वास्तिक एग्रो, वेदांता होटल रिजॉर्ट, रेशू एडवरटाइजमेंट, वसुंधरा, अम्बा शक्ति, ब्लू स्टार सेनेटरी, दिशा इंडस्ट्रीज, टिकोला शुगर, राम पोटाश, ड्रीम्स अनलिमिटेड सुधीर अग्रवाल, प्रीतुल मशीन, अमन रोलिंग और अनमोल डेयरी से जनपद की दशा जरूर सुधरेगी।

इन उद्योगों में हो रहा सबसे ज्यादा निवेश

एमएसटी रेजोल्यूशन 1230 करोड़, स्वरूप स्टील 270 करोड़, सुशटेन लिमिटेड 500 करोड़, रेशू 600 करोड़, वसुंधरा 211 करोड़, भारतीयम्म बीवरीज 600 करोड़, भगवंत एजुकेशन 220 करोड़ , एससी माहेश्वरी 2000 करोड़, दिशा इंडस्ट्रीज 105 करोड़, टिकोला शुगर 131 करोड़ के निवेश से जनपद में जरूर खुशहाली आएगी।