तपती गर्मी से उत्तराखंड में अभी नहीं मिलेगी राहत, जानकर लगेगा झटका

इस खबर को शेयर करें

उत्तराखंड के मैदानी इलाके गर्मी से तप रहे हैं। देहरादून, काशीपुर, रुद्रपुर, हरिद्वार आदि मैदानी शहरों में पारा 43 के पार पहुंच गया है। देहरादून में गर्मी ने अब तक के सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। यहां मई महीने में पहली बार शुक्रवार को दिन का अधिकतम तापमान 43.2 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया।

अभी तक ऑल टाइम रिकॉर्ड 30 मई 2012 का दर्ज है, तब देहरादून का तापमान पिछले साले रिकॉर्ड तोड़ते हुए 43.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। इस बार 26 मई के बाद से देहरादून का अधिकतम तापमान लगातार 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक चल रहा था।

फिलहाल गर्मी से राहत नहीं
अभी देहरादून समेत उत्तराखंड के मैदानी इलाकों में फिलहाल गर्मी से किसी तरह की राहत दिखती नजर नहीं आ रही हैं। मौसम विभाग के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि यहां दिन के वक्त हीट वेब यानी गर्म हवाएं चलेंगी।

अगले पांच दिन भी तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक ही रहने की संभावना है। इसके लिए देहरादून, हरिद्वार उधमसिंहनगर समेत राज्य के मैदानी हिस्सों के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है। उत्तराखंड के पर्वतीय शहरों में भी अभी दिन का तापमान सामान्य से अधिक रहेगा। हालांकि कुछ इलाकों में हल्की बारिश थोड़ा राहत महसूस की जा सकती है।

गर्मी बेशुमार, ऊपर से बिजली की मार
एक तो गर्मी बेशुमार ऊपर से शहर में अघोषित बिजली कटौती ने लोगों को परेशान कर दिया। कई शहरों तापमान 43 के पर दर्ज किया गया। गर्म हवाओं के चलते दोपहर के समय घर-दफ्तर और प्रतिष्ठानों से निकलना दूभर हो गया। दोपहर में लोग अपने-अपने घरों में कैद नजर आए। दूसरी ओर, तपती गर्मी के बीच बिजली कटौती ने लोगों की मुश्किलें दोगुनी कर दी।

हरिद्वार में लू के थपेड़ों से बेहाल रहे लोग
हरिद्वार में तापमान 43 डिग्री सेल्सियस पहुंचने से को भट्टी जैसी तपन महसूस की गई। दोपहर से शाम चार-पांच बजे तक लू के थपेड़ों ने लोगों को बेहाल कर दिया। दोपहर के समय सड़कों और बाजारों में सन्नाटा पसरा दिखा। गर्मी से बचने के लिए लोग दोपहर में घरों से बाहर नहीं निकले। घरों में लगे पंखे और कूलर से भी गर्मी से राहत नहीं मिल रही थी। धर्मनगरी हरिद्वार में इस साल रिकॉर्ड गर्मी पड़ रही है।