बिहार में IG साहब के बंगले से सरकारी पिस्टल चुरा ले गये चोर, जांच में जुटी पुलिस

बिहार के सीनियर आईपीएस अधिकारी विकास वैभव की सरकारी पिस्टल चोरों ने चुरा ली हैबिहार के सीनियर आईपीएस अधिकारी विकास वैभव की सरकारी पिस्टल चोरों ने चुरा ली है

Thieves stole government pistol from IG's bungalow in Bihar, police engaged in investigation
Thieves stole government pistol from IG's bungalow in Bihar, police engaged in investigation
इस खबर को शेयर करें

पटना. बिहार में चोरों ने पुलिस महकमे के एक बड़े अधिकारी को निशाना बनाया है. मामला पटना से जुड़ा है जहां बिहार सरकार के सीनियर आईपीएस अधिकारी और आईजी विकास वैभव की पिस्टल चोरों ने चुरा ली है, विकास वैभव की जो पिस्टल चुराई गई है वह सरकारी है. 9 एमएम की ग्लॉक पिस्टल को पुलिस मुख्यालय द्वारा आईपीएस विभाग वैभव को आवंटित किया गया था लेकिन गुरुवार को चोरों ने इसे चुरा लिया.

जो जानकारी मिली है उसके अनुसार विकास वैभव जो 2003 बैच के आईपीएस पदाधिकारी हैं गर्दनीबाग थाना क्षेत्र के अनीसाबाद इलाके में रह रहे हैं. फिलहाल वो महासमादेष्टा गृह रक्षा वाहिनी एवं अग्निशमन विभाग में तैनात हैं. एनआईए में केंद्रीय प्रतिनियुक्ति से वापस आने के बाद बिहार में जब उन्होंने योगदान दिया बिहार पुलिस मुख्यालय द्वारा उन्हें साल 2015 में आत्मरक्षा के लिए 9 एम का ग्लॉक पिस्टल आवंटित किया गया था. आत्मरक्षा के मकसद से वो हर रोज अपने साथ ही पिस्टल रखते थे और कार्यालय लेकर भी आते थे और रात में अपने शयन कक्ष के बगल में रखे साइड टेबल पर जो दराज था उसी में रख देते थे.

24 नवंबर को जब आईजी ऑफिस जाते समय पिस्टल लेने गए तो सरकारी पिस्टल गायब पाया. काले रंग के हॉलस्टर में 13 और 12 कुल 25 9mm की गोली पिस्टल में लोडेड थी. काफी खोजबीन करने के बाद विकास वैभव ने अपने परिजनों से भी पूछा लेकिन कोई कुछ बता नहीं पाया. पत्नी द्वारा पूछने पर उन्होंने बताया कि सूरज कुमार जो उनके आवास पर साफ-सफाई के काम के लिए आता है बाहरी व्यक्तियों में वही एकमात्र शख्स है जो घर में साफ सफाई के लिए घुसा करता था.

सूरज को संदेहास्पद स्थिति में उनके कमरे से निकलते हुए देखा गया था. अपने बॉडीगार्ड से जब उन्होंने पूछा तब उसके संदेहास्पद चरित्र होने की जानकारी मिली. आईजी ने आशंका जताई है कि सूरज ने ही उनका पिस्तौल चुरायी होगी. सूरज कुमार को जब बुलाकर पूछताछ की गई तो उसके द्वारा बताया गया कि उसने पिस्टल चोरी की है और अपने मित्र सुमित के हाथों बेच दिया है. सुमित उड़ान टोला में रहता है फिलहाल पुलिस पूरे मामले की छानबीन में जुट गई है और सुमित की गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा है. इसको लेकर गर्दनीबाग थाने में केस दर्ज किया गया है.